मुजफ्फरनगर, [कपिल कुमार]। भाजपा सांसद डॉ.संजीव बालियान को दोबारा केंद्रीय मंत्रिमंडल में शामिल कर लिया गया है। उन्होंने रालोद प्रमुख चौधरी अजित सिंह को चुनाव में शिकस्त दी थी। बालियान को मंत्री पद से नवाजा जाना चौ. अजित सिंह को हराने का इनाम समझा जा सकता है। पिछले दो दिन से हाईकमान में बालियान और बागपत सांसद सत्यपाल सिंह में से किसी एक को मंत्री बनाए जाने पर माथापच्ची चल रही थी। अंतत: अंतिम मुहर बालियान के नाम पर लगी।
अजित सिंह के कारण देशभर ही थी नजरें
मुजफ्फरनगर सीट पर गठबंधन प्रत्याशी एवं रालोद प्रमुख चौ. अजित सिंह और भाजपा के डॉ. संजीव बालियान के बीच मुख्य मुकाबला था। दोनों ही जाट प्रत्याशी होने के चलते मुकाबला और संघर्षपूर्ण हो गया। चौ. अजित सिंह के चुनाव मैदान में होने के कारण देशभर की नजरें इस सीट के नतीजों पर लगी थीं। आखिरकार, डॉ. संजीव बालियान ने अजित सिंह को 6526 मतों से शिकस्त दे दी। हालांकि जीत का अंतर इस बार काफी कम रहा। 2014 के लोकसभा चुनाव में बालियान चार लाख से अधिक वोटों से जीते थे।
पहले बने थे कृषि राज्यमंत्री
पिछली बार भी मोदी मंत्रिमंडल में उन्हें कृषि राज्यमंत्री बनाया गया था। करीब तीन साल बाद अचानक हुए परिवर्तन में डॉ. संजीव बालियान से मंत्री पद लेकर बागपत सांसद सत्यपाल सिंह को दे दिया गया था। तब से बतौर सांसद संजीव बालियान सीधे जनता से जुड़े रहे। संभवत: इसी के चलते जाट बिरादरी में चौ. अजित के मुकाबले बालियान को तवज्जो मिली। भाकियू की राजधानी कही जाने वाली सिसौली ने भी बालियान का साथ दिया।
दोपहर में मिला था निमंत्रण
चुनाव नतीजों के बाद से ही संजीव बालियान को मंत्रिमंडल में शामिल करने के कयास थे। इससे पहले भी चौ. अजित सिंह को बागपत में हराने वाले सोमपाल शास्त्री और सत्यपाल सिंह को मंत्री पद का इनाम मिला था। गुरुवार दोपहर ही संजीव बालियान को मंत्रिमंडल में शामिल होने का निमंत्रण मिल गया। देर शाम उन्होंने मोदी मंत्रिमंडल में शपथ ग्रहण की।
कायम किया रिकार्ड, लगातार दूसरी बार मंत्री
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मंत्रिमंडल में सांसद डॉ. बालियान को लगातार दूसरी बार मंत्री बनाया गया है। वह वर्ष 2014 में केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री बने थे। इस उपलब्धि को दोहराने वाले मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से वह एकमात्र सांसद हैं। आजादी के इतिहास में मुजफ्फरनगर लोकसभा सीट से जीत हासिल करने वाले मोहम्मद सईद वर्ष 1989 में पहली बार केंद्र सरकार में मंत्री बने थे। इसके बाद डॉ. बालियान ही केंद्रीय मंत्री बन पाए।
30 साल से मेरठ से कोई मंत्री नहीं
मेरठ से अंतिम बार 1980 से 1989 तक सांसद मोहसिना किदवई रेल मंत्री बनाई गईं। इससे पहले मेरठ के पहले सांसद जनरल शहनवाज खान केंद्र में मंत्री रह चुके थे। वे रेल मंत्री भी रहे थे। नब्बे के दशक से मेरठ भाजपा का गढ़ बन गया किंतु कोई भी मंत्रिमंडल की रेस के आसपास तक नहीं पहुंचा। अंतिम बार पश्चिमी उप्र से यूपीए-2 की सरकार में चौ. अजित सिंह कैबिनेट मंत्री बनाए गए। वो अटल सरकार में भी केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं।

एक नजर: डॉ. संजीव बालियान
सांसद डॉ. संजीव बालियान मूलरूप से मुजफ्फरनगर जिले के शाहपुर ब्लाक के कुटबी गांव के रहने वाले हैं। कृषि यूनिवर्सिटी,हिसार से वेटेरिनरी एनाटॉमी में पीएचडी संजीव बालियान छात्र राजनीति में भी सक्रिय रहे। इनकी पत्नी डॉ. सुनीता बालियान भी हिसार यूनिवर्सिटी से ही वेटेरिनरी सर्जन हैं। परिवार में दो बेटियां केतकी (18) और ताज (11) हैं। संजीव बालियान के छोटे भाई विवेक बालियान भी डॉक्टर हैं। पिता डॉ. सुरेंद्र पाल सिंह किसान हैं। गांव में करीब 80 बीघा कृषि भूमि है। भाजपा की कल्याण सिंह सरकार में सुरेंद्र पाल सिंह को जिला सहकारी बैंक का चेयरमैन बनाया गया था। वर्ष 2012 में बालियान ने भाजपा में सक्रियता दिखाई। दंगे के दौरान फर्जी मुकदमों में पीड़ितों की पैरवी करने पर वह लोगों के करीब आए। 47 साल के बालियान ने वर्ष 2014 में पहला चुनाव लड़ा और चार लाख वोटों से बसपा सांसद कादिर राना को हराकर संसद पहुंचे थे।
विकास करके उतारूंगा जनता का कर्ज: बालियान
डॉ. संजीव बालियान ने कहा कि पांच साल तक विकास कार्य कराकर जनता का कर्ज उतारा जाएगा। जनता के साथ-साथ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी उन पर फिर से विश्वास जताया है, इसके लिए वह सदैव उनके ऋणी रहेंगे और विश्वास को टूटने नहीं देंगे। जाति, धर्म और सांप्रदायिकता को खत्म कर सबको साथ लेकर विकास के पथ पर चलेंगे। दैनिक जागरण से फोन पर बातचीत में डॉ. बालियान ने कहा, किसने वोट दिया, किसने नहीं, इस पर मंथन के बजाय सभी को साथ लेकर केवल विकास की बात होगी। जाति-धर्म की राजनीति का खात्मा होना चाहिए। जनता भी यही चाहती है। उन्हें मिले मुस्लिम भाई-बहनों के वोट इस बात की तस्दीक भी करते हैं। कहा, पानीपत-खटीमा राजमार्ग और मेरठ-करनाल हाइवे का निर्माण तेजी से पूरा कराना है। 

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Ashu Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस