मुजफ्फरनगर, जेएनएन। विधानसभा चुनाव को लेकर पुलिस-प्रशासन सतर्क के साथ सख्त हो गया है। पुलिस टीम गांवों की पगडंडियों पर उतर गई है, जो अपराधियों को चेतावनी के साथ मतदाताओं को निर्भीक होकर मतदान करने के लिए प्रेरित कर रही है। गांवों के होमगार्ड को भी सक्रिय किया गया है।

मंगलवार को इंस्पेक्टर धर्मेंद्र कुमार ने मय फोर्स रूट मार्च कर लोगों से शांतिपूर्वक मतदान करने की अपील की। शांतिभंग करने की कोशिश करने वालों को सख्त कार्रवाई की चेतावनी दी। लोगों से लाइसेंसी शस्त्र जमा कराने की अपील की। देहात में भी चेकिग अभियान चलाया गया। मंसूरपुर में भी एसएचओ सुशील कुमार सैनी ने स्थानीय पुलिस व बीएसएफ के जवानों के साथ गांव मंसूरपुर, पुरबालियान, जडौदा, नावला और जीवना गांव में मार्च निकालकर ग्रामीणों से निर्भय होकर मतदान करने का आह्वान किया।

उत्तराखंड की सीमा पर की जा

रही वाहनों की तलाशी

संवाद सूत्र, पुरकाजी : विधानसभा चुनावों को लेकर दोनों राज्यों की सीमा पर पुलिस ने चेकिग व्यवस्था कड़ी कर दी है। दुपहिया से लेकर बड़े वाहनों का पुलिस तलाशी लेने के बाद ही राज्य में घुसने दे रही है। वाहनों में बैठे संदिग्धों को भी गाड़ियों से नीचे उतारकर चेक किया जा रहा है।

प्रथम चरण में जनपद में दस फरवरी को चुनाव होना है। प्रशासन चुनाव की तैयारियों में जुटा है। शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए पुलिस उत्तर प्रदेश से उत्तराखंड की मिलती हुई सीमा पर 24 घंटे वाहन चेक कर रही है।

प्रभारी निरीक्षक केपी सिंह ने बताया कि हाइवे पर भूराहेड़ी चेकपोस्ट, गंग नहर पर धमात पुल से आगे, लक्सर हाइवे पर बढ़ीवाला के पास पड़ोसी राज्यों से आने वाले वाहनों की तलाशी ली जा रही है। उत्तराखंड की ओर से आने वाली बसें, ट्रक, कार व दुपहिया वाहन आदि को बेरियर लगाकर सघनता से चैक करने के बाद ही जनपद की सीमा में प्रवेश करने दिया जाता है।

Edited By: Jagran