मुजफ्फरनगर, जेएनएन। बारिश से हुए नुकसान का जायजा लेने के लिए भाजपा विधायक तहसील अफसरों संग खादर में पहुंचे। कई गांवों को दौरा कर किसानों का हाल जाना। ग्रामीणों ने ओलावृष्टि से हुई बर्बादी बताई।

बारिश और ओलावृष्टि से सूबे में हुए नुकसान को लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आदेश पर भाजपा विधायक प्रमोद ऊटवाल तहसील की टीम के साथ रविवार दोपहर खादर पहुंचे। अलमावाला, जिदावाला, सुहेली, बढ़ीवाला आदि गांवों में किसानों से नुकसान की जानकारी ली। किसानों ने खराब हुई फसलों के बारे में बताया। विधायक और तहसीलदार सदर पुष्कर चौधरी ने खेतों में जाकर खराब फसलों को देखा। उन्होंने ने कहा कि सरकार पीड़ित किसानों के साथ खड़ी है। सभी गांवों में लेखपाल दो दिन के भीतर रिपोर्ट बनाकर प्रशासन को सौंपेंगे। मानक के अनुसार पात्रों को मुआवजा मिलेगा। ग्रामीणों ने गंगा स्नान के लिए सोलानी नदी में पानी छोड़े जाने से होने वाले नुकसान, शेरपुर से नाले में सफाई के लिए चलाई जाने वाली पोपलेन को रोकने, गत वर्ष धान की फसल का मुआवजा नहीं मिलने जैसी समस्याओं से अवगत कराया। मंडल अध्यक्ष मनोज जोधा, गुरुमेल सिंह बाजवा, बलविदर सिंह, धर्मवीर सिंह, बालेंद्र सिंह, जगतार सिंह सुक्रमपाल, नसीम, विपिन कुमार, रजत आदि मौजूद रहे।

इस तरह मिलेगा मुआवजा

खादर में खराब हुई फसलों के मुआवजे के बारे में तहसीलदार सदर पुष्कर चौधरी ने बताया कि 18 हजार रुपये प्रति हेक्टेयर गन्ना तथा 13,500 रुपये प्रति हेक्टेयर गेहू और सरसों का मुआवजा मिलेगा। पहले 50 प्रतिशत से ऊपर नुकसान होने पर ही मुआवजा मिलता था। अब सरकार ने 33 प्रतिशत से ऊपर के नुकसान की फसल का मुआवजा देने के आदेश दिए हैं। पीड़ित किसान को आधार कार्ड, बैंक पास बुक की कापी देनी होगी। ऑनलाइन के जरिये तय मुआवजा सीधे किसान के खाते में जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस