जेएनएन, मुजफ्फरनगर। खतौली में चौधरी चरण सिंह कांवड़ पटरी मार्ग पर वाहनों के अनियंत्रित होकर गंगनहर में गिरने से होने वाले हादसों पर अंकुश लगाने को लोहे की रेलिग लगाई गई है। इससे वाहनों के नहर में गिरने की घटना पर रोक लग सकेगी। सोमवार को गंग नहर पुल से लेकर रेलवे पुल तक लोहे की रेलिग लगाई गई।

देहरादून-हरिद्वार आने-जाने वाले यात्रियों के लिए चौधरी चरण सिंह कांवड़ पटरी मार्ग सबसे पसंदीदा है। इस मार्ग से बड़ी संख्या में भारी और हल्के वाहन दिन-रात गुजरते है। यहां वाहनों के तेज रफ्तार दौड़ने से हादसे होते रहते है। अक्सर वाहन गंगनहर में भी समा जाते है। हादसों में कई लोगों की जान जा चुकी है। नहर पटरी पर भारी वाहनों की रफ्तार पर ब्रेक के लिए हाइटगेज और नहर में गिरने से बचाने के लिए डिवाइडर बने थे। भारी वाहनों ने सभी हाइटगेज तोड़ दिए है। उसके बाद दोबारा हाइटगेज नहीं लगवाए गए। जिससे फर्राटा भरकर दौड़ने वाले वाहनों के अनियंत्रित होकर नहर में गिरने का खतरा बना रहता है। दुर्घटनाओं पर अंकुश के लिए पटरी के किनारे पर लोहे की रेलिग लगवाई जा रही है। सोमवार को यहां गंग नहर पुल से लेकर रेलवे पुल तक लोहे की रेलिग लगाने का कार्य किया गया।

कार की टक्कर में बाइक सवार की मौत

जेएनएन, मुजफ्फरनगर। भोपा में बेलड़ा गंग नहर पटरी पर कार व बाइक की टक्कर होने से बाइक सवार युवक की मौत हो गई, जबकि कार चालक भी गंभीर रूप से घायल हो गया। पुलिस ने युवक का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

मीरापुर थाना क्षेत्र के नंगला खेपड़ गांव निवासी 22 वर्षीय विकास सोमवार को दोपहर में बाइक से गंग नहर पटरी के रास्ते हरिद्वार जिले के लंढोरा गांव से घर लौट रहा था। जैसे ही वह भोपा थाना क्षेत्र के बेलड़ा गंग नहर पटरी पर पहुंचा तभी सामने से आ रही कार से उसकी टक्कर हो गई. बाइक सवार युवक गिरने से घायल हो गया। वहीं, कार चालक भी घायल हो गया। दुर्घटना में दोनों के वाहन भी क्षतिग्रस्त हो गए। ग्रामीणों की सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंच गई और घायलों को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर लाया गया, जहां पर चिकित्सकों ने विकास को मृत घोषित कर दिया जबकि घायल कार चालक राकिब निवासी तेवड़ा थाना ककरौली को गंभीर के हालत के चलते जिला चिकित्सालय रेफर कर दिया।