मुजफ्फरनगर : जीआइसी के मैदान में मेला लगाने को लेकर प्रशासन बैकफुट पर आ गया है। विरोध के बाद प्रशासन ने मेले की अनुमति निरस्त कर दी है। अब यहां से मेला आयोजक को दो दिन में अपना सामान हटाना पड़ेगा। जीआइसी प्रशासन ने भी इस पर आपत्ति जताई थी। अब कॉलेज प्रशासन मैदान से सामान हटवाएगा।

राजकीय इंटर कॉलेज के सामने उसका बड़ा मैदान है। यहां पर अक्सर रैली व मेला आदि के कार्यक्रम होते थे। इससे मैदान की सूरत बिगड़ गई। रखरखाव में जीआइसी ने हाथ खड़े कर दिए। अब बीते दिनों मैदान में मेला लगाए जाने की तैयारी शुरू हो गई। इसे लेकर कुछ लोगों ने आपत्ति कर दी, जबकि जीआइसी प्रशासन ने भी इसका विरोध किया। मैदान में तितावी के मदन मेला आयोजित करा रहे थे। मैदान में झूले व दुकान लगाने के लिए स्थान चिह्नित कर लिए गए। झूले और मौत का कुआं बनकर तैयार हो गया। मेले का आयोजन 8 से 29 अप्रैल तक किया जाना था। शासनादेश पढ़ने और आपत्ति आने के बाद प्रशासन ने मेला की पूर्व में दी गई अनुमति को निरस्त कर दिया। आयोजक को नोटिस देकर मेला पर पाबंदी लगाई गई है। जीआइसी प्रशासन ने भी मामले में कड़ा रुख अपनाते हुए दो दिन में सभी सामान हटाने को कहा। जीआइसी के प्राचार्य रमेशचंद शर्मा ने कहा कि मेला पर आपत्ति दर्ज की गई थी। मैदान का इस्तेमाल खेलकूद व सरकारी कार्यक्रम के लिए किया जा सकता है। वहीं, सिटी मजिस्ट्रेट वैभव मिश्रा ने बताया कि मेला लगाने की अनुमति को निरस्त किया जा चुका है। यहां केवल विद्यालय संबंधित गतिविधियों का आयोजन हो सकता है। सामान हटवाने की जिम्मेदारी जीआइसी प्रशासन की है।

By Jagran