मुजफ्परनगर, जेएनएन। उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (यूपीटीइटी) अभ्यर्थियों के हंगामे के साथ शुरू हुई। दो पालियों में हुई परीक्षा में 2,434 अभ्यर्थी अनुपस्थित रहे। पहली पाली के दौरान द एसडी पब्लिक स्कूल में प्रवेश न मिलने पर अभ्यर्थियों ने हंगामा काटते हुए केंद्र का मुख्य गेट तोड़ने का प्रयास किया। अफसरों ने अभ्यर्थियों को केंद्र में प्रवेश दिलाकर परीक्षा पूर्ण कराई।

यूपीटीईटी परीक्षा के लिए जिले में परीक्षा केंद्र बनाए गए। रविवार को पहली पाली की परीक्षा सुबह दस बजे 21 केंद्रों पर शुरू हुई, जो साढे़ 12 बजे तक चली। सुबह बारिश के चलते कुछ जगह अभ्यर्थी देरी से पहुंचे। साढ़े नौ बजे तक केंद्र में प्रवेश का समय था। जानसठ रोड स्थित द एसडी पब्लिक स्कूल में साढ़े नौ बजे के बाद पहुंचे कुछ अभ्यर्थियों को प्रवेश नहीं मिला, जिस पर उन्होंने हंगामा करते हुए तोड़फोड़ कर दी। करीब 15 से 20 अभ्यर्थियों ने अंदर जाने के लिए दरवाजा तोड़ने का प्रयास किया। सूचना पर सिटी मजिस्ट्रेट अनुप कुमार श्रीवास्तव और डीआइओएस गजेंद्र कुमार पहुंचे और अभ्यर्थियों को शांत कराकर प्रवेश दिलाया। पहली पाली में सभी केंद्रों पर 9687 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी, जबकि 1387 अनुपस्थित रहे। इसके बाद दूसरी पाली की परीक्षा 16 केंद्रों पर ढाई बजे से शुरू हुई। इस दौरान 7224 अभ्यर्थियों ने परीक्षा दी, जबकि 1047 अनुपस्थित रहे। डीआइओएस गजेंद्र कुमार ने बताया कि दोनों पालियों के लिए कुल 19,345 अभ्यर्थी पंजीकृत थे, जिसमें से 2434 ने परीक्षा छोड़ दी। 16911 अभ्यर्थियों ने ही परीक्षा दी। पहली पाली में एक केंद्र पर हंगामा हो गया था। अभ्यर्थियों को समझाकर शांत करते हुए प्रवेश-पत्र देखकर केंद्र में प्रवेश दिया गया।

Edited By: Jagran