Move to Jagran APP

दो दिन तक बाथरूम में छिपाए रखा शव, दोस्त को बुलाया था घर; फिर अचानक पीछे से चाकू से कर दिया वार

पैसों के लालच में एक दोस्त ने मुजफ्फरनगर में अपनी ही दोस्त की हत्या कर दी। इतना ही नहीं उसने दो दिन तक शव को बाथरूम में छिपाए रखा। आरोपित ने पुलिस को बताया कि उसके दोस्त ने कुछ रुपये उधार लिए थे जब वो पैसे लौटाने घर आया तो उसके पास कंपनी के तीन लाख चौसठ हजार रुपये रखे थे जिसे देख आरोपित ललचा गया।

By Mukesh Tyagi Edited By: Aysha Sheikh Tue, 09 Jul 2024 09:45 PM (IST)
दोस्त की हत्या कर दो दिन तक शव बाथरूम में छिपाए रखा।

जागरण संवाददाता, मुजफ्फरनगर। लाखों रुपये के लालच में आकर एक युवक ने दोस्त की धारदार हथियारों से हत्या कर दी और शव को दो दिन तक बाथरूम में छिपाए रखा। पुलिस ने आरोपित को गिरफ्तार कर उसकी निशानदेही पर नकदी, हत्या में प्रयुक्त आला कत्ल और स्कूटी बरामद कर ली। हत्याकांड में आरोपित की पत्नी और साले को भी नामजद किया गया है।

एसपी सिटी सत्यनारायण प्रजापत ने बताया, शनिवार को अग्रसेन विहार निवासी रविंद्र के 30 वर्षीय बेटे धर्मेंद्र की नई मंडी कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज कराई गई थी, जो राधा गोविंद शोरूम में काम करता था। पुलिस ने फुटेज खंगाली तो शनिवार की सुबह धर्मेंद्र अपनी स्कूटी से एटूजेड की तरफ जाता दिखाई दिया। पुलिस ने फुटेज के आधार पर जांच की तो धर्मेंद्र की स्कूटी एटूजेड में खड़ी मिली।

पुलिस अभी जांच कर ही थी कि सोमवार को मंसूरपुर थाना पुलिस को जड़ौदा बस अड्डे के समीप स्वास्तिक फैक्ट्री के पीछे दोपहर को एक बोरी में युवक का शव पड़ा मिला। नई मंडी थाना पुलिस ने स्वजन से शव की पहचान कराई तो वह धर्मेंद्र का निकला। इसके बाद पुलिस ने रोहित को हिरासत में ले लिया, क्योंकि आखिर काल धर्मेंद्र के मोबाइल पर रोहित की थी।

पूछताछ में कुबूला जुर्म

पूछताछ में रोहित ने धर्मेंद्र की हत्या करना कबूल लिया। रोहित ने पुलिस को बताया, उसने धर्मेंद्र से पांच हजार रुपये उधार ले रखे है। शनिवार को रुपये देने के लिए धर्मेंद्र को अपने घर बुलाया था। धर्मेंद्र स्कूटी से आया था। उस समय धर्मेंद्र के पास एक काला बैग था, जिसमें कंपनी के तीन लाख चौसठ हजार रुपये रखे थे। जिन्हें धर्मेंद्र को बैंक में जमा करना था।

धर्मेंद्र के पास रुपये देखकर उसे लालच आ गया और उसने मौका पाकर ड्राइंग रूम में बैठे धर्मेंद्र पर पीछे से सिर पर पहले चाकू से ताबड़तोड़़ वार किए और फिर फरसे से वार कर हत्या कर दी। हत्या के बाद शव को बोरी में बंद कर घर के बाहर बने बाथरूम में दो दिन तक रखा और कूड़ा बीनने वाले को 50 हजार रुपये देकर शव के ठेले से सोमवार को मंसूरपुर में फिंकवा दिया।

एसपी सिटी ने बताया, धर्मेंद्र के चचेरे भाई अभिनव निवासी गुलशन विहार अलमासपुर की तहरीर पर रोहित, उसकी पत्नी विजुल और साले शशांक निवासी जाट कालोनी के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। रोहित की निशानदेही पर उसके घर से 376100 रुपये, चाकू, फरसा और स्कूटी बरामद कर ली। धर्मेंद्र का मोबाइल अभी नहीं मिला है। पत्नी और साले का धर्मेंद्र की हत्या में क्या रोल है। जांच के बाद उन पर कार्रवाई की जाएगी। हालांकि घटना के समय रोहित घर पर अकेला था।

ये भी पढ़ें - 

UP News: सैलून में चल रहा था जिस्मफरोशी का धंधा, सिर्फ 800 रुपये में... पुलिस ने पहुंचकर सबसे पहले किया ये काम