मुजफ्फरनगर, जेएनएन। राज्य महिला आयोग की सदस्य डा. प्रियंवदा तोमर ने कलक्ट्रेट सभाकक्ष में महिला उत्पीड़न से जुड़ी समस्याओं को सुना। कुल 16 महिलाओं ने आपबीती सुनाई। जिस पर डा. तोमर ने पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों को महिलाओं की समस्या का समाधान करने के निर्देश दिए। अधिकांश समस्याएं घरेलू हिसा और दहेज को लेकर रहीं। वहीं कुछ शिक्षिकाओं और छात्राओं ने भी उनके सामने यातायात को लेकर समस्याएं रखी। कहा कि मेरठ, खतौली, मंसूरपुर से आने वाली रोडवेज बसे वहलना चौक पर रुक जाती है। वहां से रोडवेज अड्डे तक आने में भारी परेशानी झेलनी पड़ती है। ई-रिक्शा से आना पड़ता है। रिक्शा वाले काफी अधिक पैसे लेते हैं। शिक्षिकाओं ने कहा कि उन्हें मेरठ से आना पड़ता है। वहलना से विद्यालय जाने में काफी समय लगता है। मांग की कि बसों को पूर्व की भांति रोडवेज बस स्टैंड तक चलाया गया। महिला सदस्य ने इस बारे में एसएसपी अभिषेक यादव और एआरटीओ राजीव कुमार बंसल से फोन पर बातचीत की। साथ ही वे स्वयं वहना चौक पर पहुंचीं। वहां कुछ छात्राओं ने कहा कि यह क्षेत्र सुरक्षा की दृष्टि से भी सेफ नहीं है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस