जेएनएन, मुजफ्फरनगर। रोनी हरजीपुर गांव में कूड़ी हटाने को लेकर दो पक्षों में हुए खूनी संघर्ष में एक व्यक्ति की मौत हो गई। जमकर लाठी-डंडे व धारदार हथियार चले, जिसमें एक महिला सहित छह लोग घायल हो गए। पुलिस ने चार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर एक आरोपित को हिरासत में लिया है।

गुरुवार को थानाक्षेत्र के ग्राम रोनी हरजीपुर निवासी मनोज कुमार अपने भाई रणवीर उर्फ छोटू के साथ घेर में बैठे थे। आरोप है कि तभी उनके तहेरे भाई सुंदर, दीपक, आयुष व सागर अचानक वहां पहुंचे और लाठी-डंडों व धारदार हथियारों से हमला बोल दिया। दोनों पक्षों में कूड़ी हटाने को लेकर विवाद चल रहा था।

बीचबचाव में रणवीर की पत्नी मीनू घायल हो गई। रणवीर, बेटा शेखर, उनका भाई मनोज और दूसरे पक्ष से सुंदर व दीपक घायल हो गए।

एसडीएम दीपक कुमार, एएसपी कृष्ण कुमार विश्नोई मौके पर पहुंचे। पुलिस ने सभी घायलों को सीएचसी भिजवाया। गंभीर घायल रणवीर, मीनू व सुंदर को जिला अस्पताल रेफर कर दिया। घायल रणवीर (40) की अस्पताल ले जाते समय मौत हो गई। मृतक के भाई मनोज ने सुंदर, दीपक, सागर व आयुष के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कराया है। शव पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया।

इंस्पेक्टर कुलदीप सिंह ने बताया कि मुकदमा दर्ज कर आरोपितों की गिरफ्तारी के प्रयास जारी है। पुलिस सतर्क होती तो न जाती जान

ग्रामीणों के मुताबिक, कूड़ी हटाने को लेकर दोनों पक्षों में कई दिनों से कहासुनी हो रही थी। आरोप है कि एक पक्ष के लोगों ने घर में घुसकर लाठी डंडों व धारदार हथियारों से हमला किया। यदि पुलिस शिकायत पर समय रहते कार्रवाई कर देती तो संभवत: रणवीर की जान न जाती।

Edited By: Jagran