जागरण संवाददाता, मुजफ्फरनगर। विधानसभा के लिए भाजपा ने प्रत्याशियों की पहली सूची जारी कर दी है। जिले की सभी छह विधानसभा सीट पर प्रत्याशी घोषित किए हैं। इनमें चार सीटों पर वर्तमान विधायक को टिकट दिया है। जबकि, दो सीटों पर नए चेहरों पर दांव खेला है। सदर से राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल, बुढ़ाना से उमेश मलिक, खतौली से विक्रम सैनी और सुरक्षित सीट पुरकाजी से प्रमोद ऊटवाल फिर चुनाव लड़ेंगे। चरथावल से स्व. पूर्व राज्यमंत्री विजय कश्यप की धर्मपत्नी सपना कश्यप को प्रत्याशी बनाया है। वहीं, मीरापुर सीट पर भाजपा ने फिर से बाहरी प्रत्याशी को उतारा है। यहां से प्रशांत गुर्जर चुनाव लड़ेंगे।

---

सदर सीट पर कपिल देव अग्रवाल

भाजपा ने शहर (सदर) सीट से मौजूदा विधायक और राज्यमंत्री कपिल देव अग्रवाल को फिर से प्रत्याशी बनाया है। कपिल देव अग्रवाल वर्ष 2016 के उपचुनाव में विजयी हुए थे। इसके साथ ही वर्ष 2017 विधानसभा चुनाव में सपा प्रत्याशी गौरव स्वरूप को हराकर विधायक बने थे। वह नगर पालिका चेयरमैन भी रह चुके हैं।

---

खतौली सीट पर विक्रम सैनी

खतौली सीट पर फिर से भाजपा ने विक्रम सैनी पर भरोसा जताया है। विक्रम सैनी विपक्षी दलों व नेताओं पर कटाक्ष और समुदाय विशेष पर बयानबाजी को लेकर सुर्खियों में रहते हैं। पांच साल पहले हुए विधानसभा चुनाव में विक्रम सैनी ने वोट के हिसाब से जिले में सबसे बड़ी जीत दर्ज की थी। उन्होंने सपा प्रत्याशी चंदन चौहान को 30 हजार से अधिक मतों से हराया था। साप्रदायिक दंगों के दौरान उन पर रासुका भी लगी थी।

---

बुढ़ाना सीट पर उमेश मलिक

बुढ़ाना से विधायक उमेश मलिक को भाजपा ने एक बार फिर प्रत्याशी बनाया है। उमेश मलिक पांच साल में कई मामलों को लेकर सुर्खियों में रहे। टिकैत परिवार से उनकी तल्खी कई बार सामने आई। बीते दिनों सिसौली में एक कार्यक्रम के दौरान उनकी गाड़ी पर कालिख फेंक कर पथराव किया था। वर्ष 2013 में सांप्रदायिक दंगों के मामले में उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ था।

---

पुरकाजी सीट पर प्रमोद ऊटवाल

कई दिनों से चल रहे विरोध प्रदर्शन और क्षेत्र के कई गांव में नाराजगी के स्वर झेल रहे पुरकाजी विधायक प्रमोद ऊटवाल टिकट के माले में किस्मत के धनी निकले। भाजपा ने उन्हें फिर से सुरक्षित पुरकाजी सीट से उम्मीदवार घोषित किया है। ऊटवाल नगर पालिका में सफाई कर्मचारी नेता रह चुके हैं।

---

चरथावल सीट पर सपना कश्यप

चरथावल सीट पर पूर्व राज्यमंत्री रहे विजय कश्यप की धर्मपत्नी सपना कश्यप को भाजपा ने प्रत्याशी घोषित किया है। हालांकि, इस सीट पर कई दिनों से प्रत्याशी को लेकर घमासान मचा हुआ था। भाजपा ओबीसी मोर्चा के अध्यक्ष नरेंद्र कश्यप का नाम तेजी से चल रहा था। दो दिन से क्षेत्र में उनके नाम पर विरोध हो रहा था। अंतत: भाजपा ने स्व. राज्यमंत्री विजय कश्यप की पत्नी सपना कश्यप को उम्मीदवार बनाया है।

---

मीरापुर सीट पर फिर से बाहरी प्रत्याशी

मीरापुर से भाजपा विधायक अवतार भड़ाना का बीच कार्यकाल में छोड़कर कांग्रेस में चले जाने से क्षेत्रवासियों में लंबे समय से यह चर्चा चल रही थी कि इस बार बाहरी प्रत्याशी को बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इस सीट पर कई स्थानीय नेता तैयारी में थे। वहीं भाजपा हाईकमान ने सभी को दरकिनार कर फिर से बाहरी प्रत्याशी प्रशांत गुर्जर पर दांव खेला है। प्रशांत गुर्जर मूल रूप से बागपत जिले के रहने वाले हैं और काफी समय से गाजियाबाद में रह रहे हैं। वह बसपा से एमएलसी रह चुके हैं। सियासी हलकों में दो दिन से उनका नाम चल रहा था, जिस पर क्षेत्र में कई जगह विरोध प्रदर्शन भी हुआ है।

Edited By: Jagran