मुजफ्फरनगर, जेएनएन। भोपा के गांव रहकड़ा में बंगाली पंडित का शव बंद कमरे में चारपाई पर मिलने की गुत्थी अभी तक नहीं सुलझ पाई है। ज्योतिषाचार्य के सिर में चोट लगी मिलने से उनकी हत्या किए जाने के कयास भी लगाए जा रहे हैं। पुलिस हार्टअटैक की संभावना भी जाहिर कर रही है। बहरहाल, पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ज्योतिषी की मौत का राजफाश हो सकेगा। फिलहाल मृतक के परिजन अभी कलकत्ता से यहां नहीं पहुंच पाए हैं।

भोपा थाना क्षेत्र के गांव रहकड़ा में कलकत्ता के नादिया जिले के बंगाली पंडित एवं ज्योतिषाचार्य गौतम दास (42) बीते करीब 10-12 सालों से गांव में रहकर विवाह शादी और अन्य धार्मिक अनुष्ठान कराते थे। ज्योतिष के साथ साथ उन्हें देशी जड़ी-बूटियों का भी अच्छा खासा ज्ञान था। गुरुवार शाम गौतम दास का शव उनके बंद कमरे में चारपाई पर पड़ा मिलने से सनसनी फैल गई थी। ज्योतिषी जूते पहने हुए थे और उनका शव चारपाई पर पड़ा हुआ था। उनके सिर पर चोट का निशान होने से हत्या की भी आशंका जताई जा रही है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। एसपी देहात नेपाल सिंह एवं सीओ भोपा राममोहन शर्मा ने भी गांव पहुंचकर घटना की जानकारी की। ज्योतिषी की मौत को लेकर गांव में तरह-तरह की चर्चाएं हो रही हैं। प्रभारी निरीक्षक एमएस गिल ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत का कारण स्पष्ट हो पाएगा। वहीं, मृतक के परिजन अभी कलकत्ता से नहीं पहुंच पाए हैं। ज्योतिषाचार्य के परिवार में उनकी पत्नी रेखादास के अलावा दो बेटी बीबीसा दास (9) और सुदेशा दास (7) हैं।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप