जेएनएन, मुजफ्फरनगर। पहाड़ों व मैदानी क्षेत्रों में हो रही वर्षा से मीरापुर में गंगा का जलस्तर मध्य गंगा बैराज पर चेतावनी बिदु को पार कर गया है। साथ ही बीती रात से लगातार हो रही वर्षा से गंगा के तटबंध में कई जगह कटान हो गया है। जलस्तर बढ़ने के चलते प्रशासन ने बाढ़ चौकियों को अलर्ट कर दिया है।

शिवालिक की पहाड़ियों पर हो रही वर्षा से गंगा के जलस्तर में बढ़त बन गई है। हरिद्वार से लगातार छोड़े जा रहे जल से मध्य गंगा बैराज पर गंगा का जलस्तर चेतावनी बिदु 219 मीटर को पार करते हुए 30 सेमी ऊपर 219.30 मीटर पर पहुंच गया है। बुधवार की सुबह 6 बजे हरिद्वार के भीमगोड़ा बैराज से मध्य गंगा बैराज में 77900 क्यूसेक, सुबह 9 बजे 115000 क्यूसेक तथा शाम 3 बजे 109000 क्यूसेक जल छोड़ा गया। इससे मध्य गंगा बैराज पर गंगा का जलस्तर बढ़ गया। गंगा बैराज पर अपस्ट्रीम में 135000 क्यूसेक जलस्तर की माप दर्ज की गई। यहां से गंगा नदी के डाउनस्ट्रीम में 128500 क्यूसेक तथा मध्य गंगनहर में 6500 क्यूसेक जल निस्सारण की माप दर्ज की गई। सिचाई विभाग के अधिकारी गंगा बैराज कन्ट्रोल रूम पर गंगा के बढ़ते जलस्तर की लगातार माप दर्ज कर रहे हैं। तटबंध में हुआ कटान

बीती रात से लगातार हो रही वर्षा से गंगा के तटबंध में कई जगह कटान हो गया था। तटबंध में कटान होने की सूचना पर सिचाई विभाग के कर्मचारी मौके पर पहुंचे तथा तटबंध में हुए कटान की मरम्मत का कार्य शुरू कराया। इन्होंने कहा..

गंगा चेतावनी बिदु से ऊपर बह रही है। बारिश से तटबंध में कटान हो गया था, जिसको ठीक करा दिया गया है।

- अशोक जैन, सहायक अभियंता, सिचाई विभाग।

गंगा बैराज पर बढ़ते जलस्तर के चलते बाढ़ चौकियों को अलर्ट किया हुआ है। गंगा खतरे के निशान 220 मीटर से अभी काफी नीचे बह रही है।

- जैनेंद्र कुमार, उपजिलाधिकारी जानसठ

Edited By: Jagran