Move to Jagran APP

मुजफ्फरनगर दंगा, 10 मरे

By Edited By: Published: Sun, 08 Sep 2013 01:09 AM (IST)Updated: Sun, 08 Sep 2013 01:10 AM (IST)

मुजफ्फरनगर। कवाल कांड में दो युवकों की हत्या के बाद भड़की चिंगारी शनिवार को पूरे जिले में साम्प्रदायिक हिंसा की आग बनकर भड़क उठी। नंगला मंदौड़ की महापंचायत में जा रहे लोगों पर शाहपुर के गांव बसी में हमले से भड़की हिंसा से हालात बेकाबू हो गए। पूरा जिला दंगे की चपेट में आ गया। शेरनगर, मीनाक्षी चौक, अबूपुरा, अलमासपुर, खादरवाला, लद्दावाला, रुड़की चुंगी, जौली गंगनहर व मीरापुर के मुझेड़ा आदि में जमकर फायरिंग, पथराव व आगजनी हुई। दंगे में आधा दर्जन लोगों की मौत हो गई, जबकि कई दर्जन लोग घायल हो गए। मंदौड़ की पंचायत से लौट रहे लोगों पर कई जगह हमले हुए। दंगे के चलते शाम को शहर में क‌र्फ्यू घोषित कर दिया गया। क‌र्फ्यू के बावजूद हिंसा बेकाबू रही। आइजी ला एंड आर्डर आरके विश्वकर्मा सहित पुलिस व प्रशासन के आला अफसर हिंसा पर काबू पाने में जुटे रहे।

शनिवार को नंगला मंदौड़ में आयोजित पंचायत में जा रहे लोगों पर बसी गांव में संप्रदाय विशेष के लोगों ने पथराव व फायरिंग कर दी। हमले में आधा दर्जन से अधिक लोग घायल हो गये। जैसे ही घायल लोग महापंचायत स्थल पर पहुंचे तो भीड़ में आक्रोश फैल गया। पंचायतस्थल से थोड़ी दूरी पर अल्पसंख्यक समुदाय के एक युवक की पीट-पीटकर हत्या कर दी गयी। इसकी सूचना शहर में पहुंची तो शहर के मीनाक्षी चौक, अबुपुरा, किदवईनगर, कृष्णापुरी, खादरवाला, शेरनगर समेत कई स्थानों पर दोनों समुदाय के लोगों में आमने-सामने घंटों पथराव व फायरिंग हुई।

अबुपुरा में कवरेज करने पहुंचे चैनल के पत्रकार राजेश वर्मा की गोली लगने से मौत हो गई। कृष्णापुरी में एक व्यक्ति की हत्या कर दी गई। इसके अलावा पंचायत से लौट रहे लोगों पर जौली गंगनहर व मीरापुर के मुझेड़ा के पास जमकर फायरिंग व पथराव हुआ। फायरिंग में चार लोगों की मौत हो गई। जानसठ रोड पर शेरनगर के पास पंचायत से लौट रहे लोगों पर जमकर पथराव व फायरिंग हुई। भीड़ भी बेकाबू हो गई। गोली लगने से कई लोग घायल हो गए। सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने घायलों को अलग-अलग अस्पतालों में भर्ती कराया। जनपद के हालत बिगड़ते देख पुलिस प्रशासन ने शाम पांच बजे के बाद शहर में क‌र्फ्यू घोषित कर दिया। शहर में अफरा-तफरी का माहौल बना हुआ था। मंसूरपुर थानाक्षेत्र के पुरबालियान में भी लोगों पर फायरिंग, पथराव हुआ, जिसमें आधा दर्जन से ज्यादा घायल हुए। बुढ़ाना में बस पर पथराव में एक दर्जन लोग घायल हुए।

एडीजी रेलवे मुकुल गोयल, आइजी कानून व्यवस्था आरके विश्वकर्मा, आइजी ब्रजभूषण, मेरठ के डीआइजी के सत्यनारायण, मंडलायुक्त सुधीर कुमार श्रीवास्तव, डीएम कौशल राज शर्मा, एसएसपी सुभाष दुबे ने पुलिस, पीएसी, सीआरपीएफ, आरआरएफ व आरएएफ के साथ चौराहों पर मोर्चा संभाल लिया है। इसके बावजूद हालात बेकाबू हैं और हिंसा जारी है।

इन्होंने कहा..

अब तक की हिंसा में छह लोगों के मारे जाने की सूचना है। मुजफ्फरनगर शहर के तीन थाना क्षेत्रों में क‌र्फ्यू घोषित कर दिया गया है। हालात पर काबू पाने के प्रयास चल रहे हैं।

- आरके विश्वकर्मा, आइजी कानून व्यवस्था

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.