मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। Yogi Adityanath in Moradabad : मुख्यमंत्री की जनसभा में जबरदस्त भीड़ जुटाकर पूर्व सांसद सर्वेश सिंह ने राजनीति में अपने प्रतिद्वंद्वियों को अपनी ताकत का अहसास कराया। इसके साथ ही मुख्यमंत्री से अपने संबंधों की नजदीकी दिखाते हुए जताया कि वर्तमान में माननीय न होते हुए भी उनका रुतबा कहीं कम नहीं हुआ है। जनसभा विरोधियों के लिए संदेश साफ था कि विधानसभा चुनाव में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रहेगी। खास बात यह है कि मुख्यमंत्री उनकी इतनी बात तब मानते हैं, जबकि वह दो बार पार्टी में खुलकर विरोध कर चुके हैं।

पूर्व सांसद सर्वेश कुमार सिंह का परिवार राजनीति में किसी पहचान का मोहताज नहीं है। उनके पिता रामपाल सिंह भी ठाकुरद्वारा विधानसभा सीट से चार विधायक और अमरोहा से सांसद रह चुके हैं। सर्वेश कुमार सिंह भी चार बार विधायक और मुरादाबाद लोकसभा क्षेत्र से सांसद चुने जा चुके हैं। उनकी छवि दबंग राजनीतिज्ञ की रही है। भाजपा के बड़े नेताओं से उनके करीबी संबंध हैं। इसे वह समय-समय पर प्रदर्शित भी करते रहे हैं। जनसभा में भीड़ जुटाकर उन्होंने एक संदेश देने का काम किया है। पूर्व सांसद ने बताया कि जुलाई में उन्होंने मुख्यमंत्री से मुलाकात की थी और ठाकुरद्वारा में जनसभा के लिए आमंत्रित किया था। तब उन्होंने जनसभा के लिए आश्वासन दिया था। अगस्त में मुलाकात के दौरान जब जनसभा के लिए बात हुई तो मुख्यमंत्री ने सितंबर में सभा करने के लिए कहा। मैंने मुख्यमंत्री से अक्टूबर में सभा के लिए कहा, लेकिन मुख्यमंत्री ने कह दिया कि विधानसभा चुनाव के अभियान की शुरुआत ठाकुरद्वारा से होगी। भीड़ देखकर मुख्यमंत्री ने खुशी जताई है। इतनी भीड़ तब हुई है, जब इसमें पार्टी संगठन का सहयोग नहीं रहा। ठाकुरद्वारा से टिकट मिलने के सवाल पर उन्होंने कहा कि यह तो पार्टी तय करेगी। मैंने तो अपने क्षेत्र की जनता का मुझसे प्यार दिखाया है।

घर पर खाया खाना : जनसभा के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पूर्व सांसद के घर गए। वहां दोपहर का भोजन भी किया। इस दौरान सभी विशिष्ट अतिथि भी मौजूद रहे। मुख्यमंत्री को चांदी के बर्तन में खाना परोसा गया। इसमें भिंडी और लाैकी की सब्जी के साथ मखाने की खीर भी उन्होंने ली। सीएम ने पूर्व सांसद के परिवार के सभी सदस्यों से मुलाकात की। बच्चों से उनकी पढ़ाई के बारे में पूछा। रवाना होने से पूर्व उन्हें पूर्व सांसद के बेटे और बढ़ापुर विधानसभा क्षेत्र से विधायक सुशांत सिंह ने रामदरबार भेंट किया, जबकि सर्वेश कुमार सिंह ने राम मंदिर। बेटे सुशांत को हेलीकाप्टर से साथ ले गए मुख्यमंत्री : ठाकुरद्वारा के बाद मुख्यमंत्री का कार्यक्रम बिजनौर का था। बिजनौर के लिए रवाना होने से पूर्व उन्होंने बढ़ापुर विधायक सुशांत से पूछा कि बिजनौर नहीं चलोगे। तब उन्होंने कहा कि जब तक वहां पहुंचूंगा कार्यक्रम समाप्त हो जाएगा। तब वह उन्हें अपने साथ हेलीकाप्टर से बिजनौर ले गए।

Edited By: Narendra Kumar