बहजोई, संवाद सहयोगी। बिहार के पटना की रहने वाली एक महिला के साथ दरिंदगी की घटना सामने आई है, जिसे पहले बहजोई रेलवे स्टेशन से बहला-फुसलाकर एक गांव ले जाया गया और जंगल में उसे आठ दिन तक मुंह और आंख पर पट्टी बांधकर रखा गया। आखिरी दिन उसके साथ दुष्कर्म किया गया। उसके शोर मचाने पर ग्रामीणों ने इसकी सूचना डायल 112 को दी तब पुलिस ने उसे गन्ने के खेत से मुक्त कराया है।

पत्‍नी बनाने का वादा कर मह‍िला को ले गया था आरोप‍ित

पुलिस के मुताबिक जगह-जगह घूमने वाली एक महिला करीब 10 दिन पूर्व बहजोई की रेलवे स्टेशन पर म‍िली थी। तब ही उसकी मुलाकात धनारी थाना क्षेत्र के गांव सेमला भूड़ के मोहरपाल से हुई, जिसने महिला को झांसे में लिया और उसे अपनी पत्नी बनाकर रखने का वादा करते हुए घर ले आया लेकिन उसे घर पर न रखते हुए अपने गांव के एक युवक पर रखा आरोप है कि उसने महिला के मुंह और आंखों पर पट्टी बांध दी और हर रोज उसे धमकाता रहा सात दिसंबर को वह केवल से निकालकर गन्ने के खेत में ले गया और उसके साथ दुष्कर्म करने लगा। इसी दौरान महिला ने शोर मचा दिया तभी एक ग्रामीण ने डायल 112 को सूचना दी और मौके पर पहुंची पुलिस ने उसे गन्ने के खेत से मुक्त कराया।

पति से अनुमान के साथ घर से बाहर घूम रही महिला

महिला ने पूछताछ में पुलिस को बताया कि उसकी संजय नाम के युवक के साथ शादी हुई है लेकिन मनमुटाव के चलते वह उसके साथ नहीं रह रही है और अक्सर जगह जगह घूम कर अपनी गुजर-बसर कर रही है। फिलहाल महिला पुलिस को सब कुछ स्पष्ट बताने में हिचक रही है और ज्यादा नहीं बोल पा रही है। जिसके चलते उसे वन स्टाप सेंटर भवन में रखा गया है।

ग्रामीण की सूचना पर गन्ने के खेत से पुलिस ने छुड़ाया

पुलिस को डायल 112 पर सूचना मिली थी जिसके बाद महिला को जंगल में गन्ने के खेत चलाया गया है। जिसकी शिकायत पर एक आरोपित के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज की गई है। महिला की स्पष्ट नहीं बोल पा रही है। जिससे बयानों में विसंगतियां हैं। जिसके चलते और भी पूछताछ की जा रही हैं।- ललित कुमार शर्मा, थानाध्यक्ष धनारी।

Edited By: Prabhapunj Mishra

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट