मुरादाबाद : उत्तर प्रदेश सफाई-मजदूर संयुक्त संघर्ष मोर्चा का सम्मेलन रविवार को पंचायत भवन में हुआ। इसमें प्रदेश भर से सफाई कर्मी व मजदूर शमिल हुए। सम्मेलन में पहुंचे पंचायती राज मंत्री चौधरी भूपेंद्र सिंह ने कहा कि 18 मांगों में से एक मांग मेरे विभाग की है। इसे मैं स्वयं पूरा करूंगा। अन्य मांगों को पूरा कराने के लिए मैं संघर्ष मोर्चा के प्रतिनिधि मंडल की सीएम से वार्ता करवाकर उन्हें भी पूरा कराऊंगा। कहा कि भाजपा सरकार बनवाने में वाल्मीकि समाज का बड़ा योगदान है।

रविवार को पंचायत भवन में आयोजित इस सम्मेलन में पंचायती राज मंत्री भूपेंद्र सिंह के अलावा भाजपा जिलाध्यक्ष राजपाल चौहान और नगर विधायक रितेश गुप्ता भी शामिल हुए। इस अपने मांग 18 सूत्रीय मांग रखते हुए संघर्ष मोर्चा के पदाधिकारियों ने कहा कि प्रदेश के 27 निकाय और नगर निगम को निजीकरण के प्रस्ताव को तुरंत निरस्त किया जाए। सीवर सफाई के दौरान जान गंवाने वाले सफाई कर्मियों को शहीद का दर्जा दिया जाए और उनके परिजनों को नौकरी व 50 लाख रुपये की सहायता दी जाए। इसके अलावा पुरानी पेंशन बहाली की मांग भी की गई। संविदा कर्मियों को स्थाई करने और अयोध्या में राम मंदिर परिसर में ही वाल्मीकि मंदिर के निर्माण की भी मांग की गई। इस दौरान बड़ी संख्या में मजूदर व सफाई कर्मी मौजूद रहे।

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस