मुरादाबाद, जेएनएन।  सांसद आजम खां, उनकी पत्नी शहर विधायक डा. तजीन फात्मा और बेटे अब्दुल्ला आजम पर लगे आरोपों पर आपत्ति दर्ज कराने के लिए अदालत ने उनके वकील को समय दे दिया है। अब बहस के बाद आरोप तय हो सकेंगे। अब्दुल्ला के दो जन्म प्रमाण पत्र, दो पासपोर्ट और दो पैन कार्ड से संबंधित मुकदमे अदालत में विचाराधीन हैं।

इन तीनों मुकदमों में एमपी-एमएलए कोर्ट में सोमवार को भी सुनवाई हुई थी। मंगलवार को भी सुनवाई हुई। जिला शासकीय अधिवक्ता अरुण प्रकाश सक्सेना ने बताया कि आरोप तय होने से पहले अभियुक्त को केस डायरी, चार्जशीट और एफआइआर आदि प्रपत्रों की कापी उपलब्ध कराई जाती है, जो उनके अधिवक्ता को उपलब्ध करा दी गईं। अधिकतर पेपर सोमवार को ही दे दिए गए थे। कुछ प्रपत्र मंगलवार को उपलब्ध कराए गए। इन पर आपत्ति दर्ज कराने के लिए उनके अधिवक्ता को समय भी दिया गया है। उन्होंने बताया कि दो जन्म प्रमाण पत्र के मामले में अब एक मार्च को सुनवाई होगी। इस मुकदमे में सांसद, उनकी पत्नी और बेटा शामिल हैं। दो पासपोर्ट बनवाने के मामले में पांच मार्च को सुनवाई होगी, इसमें अब्दुल्ला अकेले नामजद हैं, जबकि दो पैनकार्ड मामले में सांसद और उनका बेटा आरोपित हैं। इस मामले की सुनवाई 10 मार्च को होगी। आरोप तय होने से पहले बहस भी होगी। पैन कार्ड और पासपोर्ट मामले में हाईकोर्ट से जमानत अर्जी भी खारिज हो चुकी है। ये तीनों मुकदमे भाजपा नेता आकाश सक्सेना ने दर्ज कराए थे।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप