रामपुर,जेएनएन। कोरोना वायरस का खतरा अब रेलवे स्टेशन तक पहुंच गया है। यहां जीआरपी थाने के एक सिपाही में कोरोना की पुष्टि हुई है। सिपाही में संक्रमण पाए जाने से अब अन्य स्टाफ और उनके परिवार को भी कोरोना का खतरा हो गया है। इसके अलावा कुवैत से लौटे शहर के दो युवकों की जांच रिपोर्ट कोरोना पॉजीटिव आई है। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुबोध कुमार शुक्ला ने बताया कि 31 मई को भेजे सेंपल की जांच रिपोर्ट बुधवार को मिली है। राहत की बात यह है कि इसमें 91 की रिपोर्ट निगेटिव आई है। इसमें 14 पुराने मरीजों की भी रिपोर्ट निगेटिव है। इसके अलावा तीन लोग संक्रमित मिले हैं। संक्रमितों में एक जीआरपी थाने के सिपाही हैं। माना जा रहा है कि रेलवे स्टेशन पर श्रमिक स्पेशल ट्रेनों के आने और जाने के समय ड्यूटी करते हुए वह किसी संक्रमित के संपर्क में आ गए होंगे। अब उनके साथ ड्यूटी करने वाले थाने के अन्य स्टाफ में भी संक्रमण की संभावना हो सकती है। ऐसे में सभी की जांच कराई जाएगी। इसके लिए जीआरपी थाना प्रभारी सतीश कुमार से संक्रमित सिपाही के संपर्क में आए लोों की लिस्ट मांगी है, ताकि उन सभी को क्वारंटाइन किया जा सके। सिपाही स्टेशन पर ही बने सरकारी आवास में परिवार के साथ रहते हैं। उनके परिवार के सदस्यों की भी जांच की जाएगी। इसके अलावा मिले दो अन्य संक्रमित गंज कोतवाली के मुहल्ला बजरिया फतेह अली खां और सिविल लाइंस कोतवाली के बरेली गेट के रहने वाले हैं। दोनों 31 मई को कुवैत से लौटे थे। ये दोनों पहले से जौहर यूनिवॢसटी के कोविड केयर सेंटर में क्वारंटाइन हैं। सीएमओ ने बताया कि जिले में अब कुल सक्रिय मरीज 34 रह गए हैं।

Posted By: Ravi Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस