मुरादाबाद, जेएनएन। बिजनौर पुलिस के लिए सिरदर्द बन चुके सिरफिरे हत्यारे अश्वनी उर्फ जानी ने खुद को गोली मार ली। जानी की मौत के साथ तीन हत्याओं के राज भी दफन हो गए। उन हत्याओं की वजह क्या थी, इसका अब शायद ही पुलिस खुलासा कर सके।

बिजनौर में पुलिस द्वारा घोषित इनामी बदमाश जानी ने शुक्रवार देर रात गोली मारकर खुदकशी कर ली। जानी की मौत के साथ भाजपा नेता के पुत्र व भतीजे तथा एयर होस्टेस की हत्या का राज भी मर गया। 

आठ दिन से बिजनौर में आतंक का पर्याय बने जानी को पुलिस ने शुक्रवार रात बढ़ापुर थाने से चंद कदम की दूरी पर घेर लिया। खुद को चारों तरफ से घिरा देखकर जानी ने खुद को गोली मार ली, उसकी मौके पर ही मौत हो गई। जानी मूलरूप से बढ़ापुर का रहने वाला था। 26 सितंबर को जानी ने बढ़ापुर में भाजपा नेता भीम सिंह के पुत्र राहुल व भतीजे कृष्ण की गोली मारकर हत्या कर दी। दोहरे हत्याकांड से चारों तरफ खलबली मच गई। पुलिस इस दोहरे हत्याकांड की गुत्थी सुलझा भी न पाई थी कि जानी ने स्योहारा के दौलताबाद में घर में घुसकर एयर होस्टेस निकिता शर्मा को गोलियों से छलनी कर दिया। एक सप्ताह में इस ट्रिपल मर्डर ने पुलिस के आला अफसरों के होश उड़ा दिए। आखिर में जानी ने खुद की भी जान ले ली। जानी की मौत के बाद पुलिस अब उन लोगों से पूछताछ की योजना बना रही है, जो जानी के राजदार रहे हैं। 

 आइजी ने घोषित किया था इनाम 

एक सप्‍ताह में तीन हत्‍याओं से बिजनौर दहल उठा। पुलिस उस जानी की तलाश में जीजान से जुट गई, जिसके सिर पर खून सवार था। हालात की गंभीरता भांप आइजी रमित शर्मा ने जानी के सिर पर पचास हजार रुपये का इनाम घोषित कर दिया। जानी की तलाश में बिजनौर के 21 थानों की पुलिस लगाई गई। इसके अलावा पीएसी व आरएएफ की टीमों को भी जानी की गिरफ्तारी की जिम्मेदारी सौंपी गई। यही वजह रही कि जानी बढ़ापुर से बाहर नहीं निकल पाया। शुक्रवार की रात भागने की कोशिश करते ही वह पुलिस से घिर गया। 

 एयर होस्टेस से करता था एकतरफा प्यार 

जानी एयर होस्टेस निकिता शर्मा से एकतरफा प्यार करता था। ऐसा मानने वाली बिजनौर पुलिस को यह बताना होगा कि पांच दिन के भीतर जानी ने तीनों लोगों के कत्ल की योजना कब बनाई थी? सिलसिलेवार तीन हत्याओं का कारण क्या रहा? जानी को असलहा कहां से मिला? वह कौन लोग हैं, जिन्होंने ट्रिपल मर्डर करने वाले को आठ दिनों तक पनाह दी। 

 ट्रिपल मर्डर से जुड़े हर सवाल के जवाब तलाशे जा रहे हैं। जानी के शव का पोस्टमार्टम कराया जा रहा है। बिजनौर पुलिस घटना के असल कारणों की तलाश में जुटी हुई है। 

रमित शर्मा, आइजी मुरादाबाद परिक्षेत्र।

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस