मुरादाबाद, जेएनएन। एसएसपी अमित पाठक ने थाना सिविल लाइंस की आशियाना चौकी पर तैनात दारोगा के खिलाफ मुकदमा लिखाकर गिरफ्तार करा दिया है। दारोगा कांवड़ यात्रा के दौरान बवाल होने के मामले में एक व्यक्ति से नाम निकालने के लिए तीस हजार रुपये की रिश्वत मांग रहा था।

कांठ रोड पर कॉसमास अस्पताल के सामने कांवडिय़ों को एक कार ने टक्कर मार दी थी। कार अगवानपुर के युवकों की थी। उसमें सवार युवकों की भीड़ ने पिटाई कर दी थी। इस मामले में सिविल लाइंस पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया था। विवेचना आशियाना पुलिस चौकी पर तैनात दारोगा अभिनव देशवाल कर रहे थे। मामले में सूरजपाल सिंह निवासी प्रेमनगर, थाना सिविल लाइंस के बेटे के नाम भी सामने आए थे। आरोप है कि दारोगा नेसूरजपाल सिंह से मुकदमे में से अपने बेटों के नाम निकलवाने की कोशिश की तो उन्होंने 30 हजार रुपये की मांग करनी शुरू कर दी। सूरजपाल सिंह का कहना था कि उनके बेटों का घटना से कोई लेना-देना नहीं है।सूरजपाल ने परेशान होकर रिश्वत मांगने की वीडियो बनाकर एसएसपी को सौैंप दी। एसएसपी अमित पाठक ने मामले की जांच कराकर आरोपित मुजफ्फरनगर के मूल निवासी दारोगा के खिलाफ मुकदमा लिखाकर गिरफ्तार करा दिया। आरोपित दारोगा के खिलाफ प्रिवेन्शन आफ करप्शन एक्ट, 1988 पंजीकृत किया गया है। 

 

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप