रामपुर। मिलक में जापानी बुखार से किशोर की मौत हो गई। इस घटना के बाद बुखार से पीडि़त अन्य लोगों में दहशत है। वहीं परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है। 

नगर के मुहल्ला नसीराबाद निवासी शाकिर हुसैन का 14 वर्षीय पुत्र साहिल हुसैन, नगर स्थित एक जूनियर हाई स्कूल में कक्षा पांचवीं में पढ़ता था। सात दिनों पूर्व साहिल हुसैन को तेज बुखार आया। उसका नगर के सरकारी अस्पताल में इलाज कराया गया। लेकिन बुखार के ना उतरने पर, परिजनों ने उसे बरेली के आलाहजरत अस्पताल में भर्ती कराया। जहां से उसे महाजन अस्पताल रेफर कर दिया गया। महाजन अस्पताल से नारायण अस्पताल रेफर किए जाने के बाद, उपचार के दौरान उसकी हालत बिगडऩे पर उसे दिल्ली के सफदरगंज में भर्ती कराया गया। लेकिन वहां भी कोई फायदा ना होने पर उसे दिल्ली के ही स्थित जीबी पंत अस्पताल में भर्ती कर उसका उपचार किया जा रहा था। इलाज के दौरान किशोर की बुधवार की सुबह मौत हो गई। दिल्ली में उपचार के दौरान किशोर की खून की जांच में जापानी बुखार होने की पुष्टि हुई है। किशोर की जापानी बुखार से मौत हो जाने पर नगर में पीडि़त अन्य बुखार के मरीजों में दहशत है। पीएचसी प्रभारी डॉ. मोहित रस्तोगी ने बताया कि क्षेत्र में जापानी बुखार से पीडि़त किसी भी व्यक्ति के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं है । अभी तक ऐसा कोई भी मामला सरकारी अस्पताल तक नहीं पहुंचा है। 

 

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस