मुरादाबाद। सीबीएसई बोर्ड के नतीजे आने के बाद कई भावुक पल भी सामने आए। कोई बेहतर अंक लाकर अत्यधिक खुशी के चलते भावुक था अर्थात आंखों में खुशी के आंसू थे तो किसी की आंखों में जरा सी चूक के चलते कम नंबरों की टीस भी दिखी। यह ²श्य देखने को मिला आशियाना स्थित आरआरके स्कूल में। स्कूल में विज्ञान वर्ग से 96 फीसद अंक लाकर स्कूल टॉप करने वाले कृष्ण कांत खुशी से लबरेज थे। प्रधानाचार्य वंदना छाबड़ा से कहते है मैम! आज मैं बहुत खुश हूूं। मैने पापा का सपना पूरा कर दिया।

कहते हैं कि पापा का सपना था कि बेटे का नाम स्कूल के टॉपरों के बोर्ड में लिखा जाए। देखिए, मैं स्कूल टॉपर भी आ गया। एक पुत्र के अपने प्रधानाचार्य के साथ अपने प्रति इस संवाद को सुन पास बैठे कृष्ण कांत के पिता परम ङ्क्षसह भावुक हो जाते हैं और बेटे का गले से लगा लेते हैं। दूसरी कहानी है इसी स्कूल की सिमरन उस्मानी की। 95 फीसद अंक हासिल करने वाली सिमरन का भी स्कूल की टॉपरों की सूची में नाम दर्ज कराने का सपना था लेकिन, फिजिक्स में कम नंबर होने के चलते वह टॉपरों की सूची में नाम दर्ज कराने से चूक गई।इसका सिमरन को मलाल है, लेकिन वह आत्मविश्वास से लबरेज हैं। स्वयं मैम को आश्वासन देेते हुए कहती हैं कि मैम, इस टॉपर वाली सूची में मेरा नाम भले ही नहीं लगेगा, लेकिन नीट की परीक्षा में टॉप जरूर करूंगी और एलुमिनी टॉपर्स लिस्ट बोर्ड में मेरा नाम जरूर लिखा जाएगा। सिमरन की यह बात सुन प्रधानाचार्य का दिल भी एक मां की भांति भावुकता से भर जाता है। यह ²श्य देख मौके पर मौजूद हर शख्स भावुक नजर आया।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप