रामपुर, जेएनएन। जौहर यूनिवर्सिटी के लिए जमीनें कब्जाने के मुकदमों की जांच कर रही एसआइटी ने शनिवार को विधायक नसीर अहमद खां से तीसरी बार पूछताछ की। लेखपाल महिपाल ङ्क्षसह ने भी एसआइटी के समक्ष बयान दर्ज कराए। 

सांसद आजम खां के खिलाफ मोहम्मद अली जौहर यूनिवर्सिटी के लिए जमीनें कब्जाने के आरोप में सांसद आजम खां के खिलाफ 30 मुकदमेे दर्ज हुए हैं। यूनिवर्सिटी के पड़ोसी गांव आलियागंज के 26 किसानों ने भी अजीमनगर थाने में सांसद के खिलाफ मुकदमे दर्ज कराए हैं। इन मुकदमों की जांच के लिए पुलिस अधीक्षक डॉ. अजयपाल शर्मा ने स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम बनाई गई है। आजम खां तो एसआइटी के समक्ष पांच बार पेश हो चुके हैं।

 शनिवार को विधायक नसीर खां भी तीसरी बार पेश हुए और बयान दर्ज कराए। वह दोपहर में महिला थाने पहुंचे। एसआइटी ने उनसे जौहर यूनिवर्सिटी की जमीनों के बारे में पूछताछ की। लेखपाल महिपाल से भी पूछताछ की गई। इन दोनों को एसआइटी ने तीन दिन पहले नोटिस जारी कर बयान देने के लिए बुलाया था, जो शनिवार को पेश हुए। 

नसीर खां मौलाना मोहम्मद अली जौहर ट्रस्ट के संयुक्त सचिव हैं और जौहर ट्रस्ट ही जौहर यूनिवर्सिटी को चलाती है। आजम खां इस ट्रस्ट के अध्यक्ष हैं। उनके परिवार के लोग भी ट्रस्ट के सदस्य हैं। एसआइटी आजम खां की पत्नी और दोनों बेटों से भी पूछताछ कर चुकी है। 

 

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप