मुरादाबाद, जेएनएन। श्मशान घाट पर अंतिम संस्कार को लोगों ने जमकर हंगामा किया। बाद में प्रशासन की मौजूदगी में अंतिम संस्कार किया गया। इस दौरान एसडीएम ने कहा कि यदि अंतिम संस्कार के दौरान कोई भी व्यक्ति इस तरह की हरकत करता है, तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

गुरुवार को चिकित्सा अधीक्षक डा.सत्येंद्र सिंह की माता का कोरोना के चलते निधन हो गया। बताया कि शुक्रवार को कोविड-19 के तहत मुहल्ला लक्ष्मीनगर में बने श्मशान घाट पर वह अंतिम संस्कार करने के लिए गए थे। जहां पर मुहल्लेवासियों ने अंतिम संस्कार करने का विरोध शुरु कर दिया। मृतक के स्वजनों ने मुहल्लेवासियों से काफी आग्रह किया। लेकिन वे जिद पर अड़े थे। काफी समझाने बुझाने के बाद भी वे नहीं माने।

सूचना पर कार्यवाहक कोतवाल पूरन सिंह पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंच गए। स्वजनों ने पुलिस की मौजूदगी में अंतिम संस्कार किया। इस दौरान उपजिलाधिकारी डा. राजेश कुमार भी मौके पर पहुंच गए। अंतिम संस्कार का विरोध कर रहे लोगों से कहा कि यदि कोई व्यक्ति अंतिम संस्कार का विरोध करता है या फिर व्यवधान पैदा करता है तो ऐसे लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

इसके साथ ही एसडीएम ने कोविड-19 प्रोटोकॉल के अनुसार ही अंतिम संस्कार करने, अनावश्यक भीड़ इकट्ठा न करने के निर्देश दिए। इसके अलावा लकड़ियों के अधिक दाम वसूलने की शिकायत मिलने पर कार्रवाई की चेतावनी दी। इस मौके पर तहसीलदार रणविजय सिंह, कस्बा चौकी प्रभारी सतीश कुमार मौजूद रहे।