सम्‍भल, जेएनएन। चन्दौसी के  कुढ़फतेहगढ़ थाना क्षेत्र के गांव रीठ में खाना बनाते समय गैस सिलेंडर लीक हो गया। सिलेंडर  धू-धू कर जलने लगा। इसकी चपेट में आकर दादी पोती झुलस गई। स्वजन उपचार के लिए मासूम को चन्दौसी लेकर आ रहे थे, लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया।

गांव रीठ निवासी तेजपाल की पत्नी रेशम देवी शनिवार को सुबह 10 बजे छत पर खाना बना रही थी। वही पर इसकी पोती शिवानी(3) पुत्री हरप्रसाद खड़ी थी। तभी अचानक गैस सिलेंडर में लीकेज हो गई। देखते ही देखते सिलेंडर  धू-धूकर जलने लगा। इसकी चपेट में आकर रेशम देवी मामूली रूप से झुलस गई। बराबर में खड़ी शिवानी को जब तक दादी बचा पाती तब तक वह बुरी तरह झुलस गई। चीख पुकार सुनकर परिवार के लोग छत पर आ गए। स्वजन शिवानी को बाइक द्वारा उपचार के लिए चन्दौसी लाने लगे, लेकिन रास्ते में ही उसने दम तोड़ दिया। मासूम की मौत से परिवार के लोगों को रो-रोकर बुरा हाल है।

पहले माचिस जलाएं, फिर गैस को चालू करें

रसोई में सूती कपड़े पहने रहें, सिंथेटिक कपड़े पहन रसोई में काम न करें, रसोई का उपकरणों को पकड़ने के लिए अपने पहने हुए कपड़ों का प्रयोग न करें, चालू गैस पर कुछ चढ़ा कर भूल न जाएं, उस पर पूरा ध्यान रखें- हवा के आवागमन के लिए सभी दरवाजे और खिडकियां खोल दें। अगरबत्ती, मोमबत्ती और अन्य लैंप इत्यादि बंद कर दें। गैस का रेगुलेटर बंद कर दें और सारे गैस स्टोव भी बंद ही रखें। सेफ्टी टोपी को सिलिंडर के ऊपर वापस लगा दें- घर के इलेक्ट्रिक स्विच का प्रयोग न करें।

 

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस