मुरादाबाद,जासं : देश में मरने वालों को नमन करने के साथ मंगलवार को रेलवे स्टेशन पर शहीद मेले का आयोजन किया गया। शहीदों के नाम व फोटो लगाए गए थे। साथ ही आरपीएफ की उपलब्धियों को भी दर्शाया गया।

आरपीएफ द्वारा देश भर में 20 अक्टूबर से 27 अक्टूबर देश की रक्षा व आतंकियों से लड़ते हुए शहीदों हुए जवानों को नमन करने के लिए अभियान चला जा रहा था। अभियान के अंतिम दिन रेलवे स्टेशन पर शहीद मेला लगाया गया था, जिसमें देश की सीमा पर शहीद हुए जवानों के नाम की सूची लगाई गई थी। पिछले दिनों भारत-चीन में हुई झड़प के दौरान लद्दाख में शहीद हुए जवानों का भी नाम शामिल था। यात्रियों व रेल लाइन की सुरक्षा करते हुए शहीद हुए 14 आरपीएफ जवानों के फोटो भी लगाए गए थे। मेले में जम्मू-कश्मीर में आतंक के माहौल के बीच सुरक्षित ट्रेन चलाने की फोटो लगाई गई थी। एक साल में आरपीएफ की टीम ने ट्रेन में यात्रियों के छूटे सामान को खोजकर पहुंचने का काम किया है। इसी तरह से सफर के दौरान परिवार वालों से बिछड़े 80 बच्चों को खोजकर निकालने का काम किया है।

इस अवसर प्रवर मंडल सुरक्षा आयुक्त अपूर्व अग्निहोत्री, सहायक सुरक्षा आयुक्त एपी सिंह सीओ जीआरपी देवी दयाल पहुंचे और शहीद को सलामी दी और कहा कि रेलवे की फोर्स सुरक्षित ट्रेन संचालन के साथ आतंकी व नक्सली से भी मुकाबला करने का काम करती है। यात्रियों को सुरक्षा देने में सबसे अव्वल फोर्स के रूप में काम कर रही है। इसके अलावा आरपीएफ इंस्पेक्टर एसबी यादव, जीआरपी इंस्पेक्टर सुधीर कुमार आदि उपस्थित थे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस