रामपुर।  सांसद आजम खां की मुश्किलें कम होने का नाम नहीं ले रही हैं। पुलिस ने अब उनके खिलाफ डकैती

और हत्‍या में चार मुकदमे दर्ज किए गए हैं। उनके खिलाफ दर्ज किए गए मुकदमों की संख्‍या अब 60 से बढकर 64 पर पहुंच गई है। 

शहर कोतवाली में घोसियान निवासी नन्ने ने रिपोर्ट दर्ज कराई है, जिसमें कहा है कि 15 अक्टूबर 2016 को तत्कालीन सीओ सिटी आले हसन खां, एसओजी सिपाही धर्मेंद्र, ठेकेदार इस्लाम, वीरेंद्र गोयल, फसाहत अली खां शानू व 20-30 अन्य लोग उनके घर पर भारी पुलिस फोर्स के साथ आए और कहा कि यह जगह आजम खां ने ले ली है। यहां उनका स्कूल बनना है, फौरन जगह खाली कर दो, वर्ना फर्जी मुकदमे में जेल भेज दिए जाओगे। इन लोगों ने बुरी तरह मारा पीटा। महिलाओं के भी कपड़े फट गए। उनके घर में रखा सामान चार तोले सोने के जेवर और दो हजार रुपये भी लूट लिए। इस के बाद घर पर बुलडोजर चलवा दिया। वह बदहवास होकर थाने पहुंचा, लेकिन पुलिस वालों ने उसकी रिपोर्ट दर्ज नहीं की और उसे धमकाकर थाने से भगा दिया। अब कोतवाली पुलिस ने उसकी तहरीर पर डकैती डालने, घर तोडऩे, गाली गलौज करने व जान से मारने की धमकी देने आदि के आरोप में रिपोर्ट दर्ज की है।

इसी तरह मन्ने, मुबारक अली,आसिफ अली ने भी रिपोर्ट दर्ज कराई है। आसिफ का आरोप है कि उसकी मां को पीटकर घायल कर दिया था, जिससे दो दिन बाद उनकी मौत हो गई।  पुलिस अधीक्षक डॉक्टर अजय पाल शर्मा का कहना है कि रिपोर्ट जांच पड़ताल के बाद दर्ज की गई हैं। विवेचना में जो तथ्य सामने आएंगे, उसी के आधार पर कार्रवाई की जाएगी। 

गौरतलब है कि लोक सभा चुनाव के दौरान ही आपत्ति जनक भाषण देने और आचार संहिता के उल्लंघन में आजम खां के खिलाफ मुकदमे दर्ज होने शुरू हो गए थे। इसके बाद जौहर यूनिवर्सिटी के लिए जमीने कब्जाने के भी 30 मुकदमे दर्ज हुए, जबकि 10 मुकदमे चुनाव से पहले के चल रहे हैं। अब डकैती के मुकदमे भी दर्ज हो गए हैं। इस तरह अब तक उनके खिलाफ थानों में 64 मुकदमे दायर हो चुके हैं।

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस