मुरादाबाद। थाना पाकबड़ा के गुरैठा गांव के तीन परिवारों के घर वापसी के मामले ने तूल पकड़ लिया। इसके साथ ही राजनीतिक खींचतान भी शुरू हो गई है। वहीं, घर वापसी और धर्म परिवर्तन के मामले को लेकर तीनों ही परिवार बार-बार बयान बदल रहे हैं। पंचायत हुई। हालांकि वह स्वीकार रहे हैं कि हवन पूजन से पूर्व तक वह ईसाई पद्धति से प्रार्थना करते थे और अब हिंदू रीति रिवाज के अनुसार पूजा-पाठ कर रहे हैं।

शनिवार को दिन भर गांव में पंचायतों का दौर चलता रहा। पुलिस भी जांच करने के लिए पहुंची। ग्राम गुरैठा के कुछ द्वारा लोगों धर्म परिवर्तन कर घर वापसी के मामले को सियासी दृष्टिकोण से भी देखना शुरू किया। जिन परिवारों के घर वापसी की बात की जा रही है, उनका कहना है कि हम लोग घर में सुख-शांति के लिए ईसाई पद्धति से प्रार्थना करते थे। परिवार के मुखिया का कहना है कि शुक्रवार को मंदिर परिसर में हुए हवन-पूजन के बाद से हम लोगों ने  हिंदू धर्म के मुताबिक पूजा-पाठ करना शुरू कर दी है। शुक्रवार को भाजपा के एक नेता ने गांव के तीन परिवारों को ईसाई धर्म से हिंदू धर्म में वापसी का दावा किया था। वहीं भाजपा नेता का कहना है कि उन्होंने पूरी तरह से जांच परखकर ही पूरा आयोजन कराया था। लोगों द्वारा दबाव बनाए जाने के कारण घर वापसी करने वाले लोग घबराए हुए हैं।

चर्चाओं का बाजार गर्म 

मामले को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म हो गया है। लोग तरह तरह की चर्चाएं कर रहे हैं। परिवार के  लगातार बयान से अभी तक की स्‍थति साफ नहीं हो रही है। हालांकि कुछ आरोप और प्रत्‍यारोप का दौर जारी है। 

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021