मुरादाबाद,जासं : रविवार को पंडालों में विधि-विधान से दुर्गा पूजन हुआ। इसमें बंगाली समाज के लोगों ने हाथ में फूल लेकर दुर्गा मां से प्रार्थना की। दोपहर को समिति के लोगों ने भंडारे के रूप में प्रसाद ग्रहण किया।

कालीबाड़ी मंदिर, मनोरंजन सदन और लाइनपार के साईं सेलिब्रेशन में दुर्गा पूजा के पंडाल सजे हैं। इनमें चार दिनों से दुर्गा पूजा की जा रही है। तीनों ही पंडालों में सुबह नवमी पूजन के साथ पुष्पांजलि हुई और शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रमों के तहत धुनुचि नृत्य किया गया। इसमें पुरुष, महिला व बच्चों ने में धमाल मचाया। अध्यक्ष एके मित्रा ने बताया कि नवमी पूजन कांशीराम नगर स्थित कालीबाड़ी मंदिर में पंडित गौरी शंकर भट्टाचार्य ने कराया। तत्पश्चात पुष्पांजलि के दौरान फूलों से मां की आराधना की गई। लाइनपार स्थित साईं सेलिब्रेशन में सजे दुर्गा पूजा पंडाल में सुबह पुष्पांजलि हुई। इसमें हाथ में फूल लेकर मां से परिवार व देश की खुशहाली के लिए प्रार्थना की। शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रमों के तहत धुनुचि नृत्य मुख्य रहा। यह नृत्य पश्चिम बंगाल के प्रसिद्ध नृत्यों में एक है। इस दौरान महासचिव डा. पीके विश्वास, सहदेव मंडल, विभास टीकाधार, तुषार विश्वास समेत अन्य मौजूद रहे। मनोरंजन सदन में भी चौथे दिन दुर्गा पूजा पर नवमी पूजन हुआ। बिना दुर्गा मां की मूर्ति के इस बार देवी के रूप में कलश की स्थापना करके पूजा की जा रही है। कोरोना के कारण यहां पर शारीरिक दूरी का अच्छी तरह पालन हो रहा है। भंडारा भी मनोरंजन भवन में स्थगित रहा। पंडित आनंद मोहन घोष ने विधि पूर्वक पूजन कराया। इस मौके पर देवाशीष भट्टाचार्य, असीत बनर्जी, अरुण भट्टाचार्य, सजल गुप्ता, अरुण कुट्टू समेत अन्य मौजूद रहे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस