मुरादाबाद, जेएनएन। Rain Borne Accidents : बारिश का पानी एक मासूम बालक के लिए जानलेवा बन गया। घर के आगे बना नाला बारिश के पानी से भर गया। इसी में मासूम गिरकर बह गया। स्वजन जब तक उसे खोज पाए, तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। उसका शव घर से 100 मीटर के फासले पर तीन घंटे बाद बरामद हुआ। उसकी मौत से घर में कोहराम मचा है। पड़ोसी भी सदमे में आ गए।

यह हादसा रविवार को रामपुर जनपद के टांडा शहर के मुहल्ला भब्बलपुरी में हुआ। यहां अतीक अहमद का घर पुलिया के पास है। घर के सामने से नाला बह रहा है। अतीक अहमद का चार साल का बेटा अनस दरवाजे के सामने बनी पुलिया पर खेल रहा था। दोपहर हुई तेज बारिश के कारण नाला भर गया और पानी पुलिया तक बहने लगा। दोपहर करीब एक बजे खेलते समय बच्चा नाले में गिर गया। कुछ देर बाद उसके दिखाई न देने पर स्वजन तलाशने में जुट गए। रिश्तेदारों में भी तलाश किया। नाले में भी बादली तक तलाश किया, लेकिन उसका काफी देर तक कुछ पता नहीं चला। तीन घंटे बाद यानी शाम चार बजे घर से सौ मीटर की दूरी पर बच्चे के चप्पल दिखाई दिए।

चप्पल मिलने पर शव नाले में पड़ा होने का शक पैदा हुआ। इसी आधार पर वहां तलाश किया गया। तब बच्चे का नाले में शव मिला। शव मिलते ही चीख पुकार मच गई। घर में कोहराम मच गया। देखने वालों की भी भीड़ जमा हो गई। मासूम की मौत से मुहल्ले में मातम छा गया। कांग्रेस नेता हाजी सरफराज आलम ने बताया कि बच्चा रिश्ते में भतीजा था। दो बहनों में सबसे छोटा था। पालिकाध्यक्ष महनाज जहां का कहना है कि नाले की सफाई भी कराई गई थी, लेकिन बारिश तेज होने के कारण नाला पानी से भर गया। तेज बहाव के कारण ही बच्चे की डूबने से मौत हो गई।

Edited By: Samanvay Pandey