मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। मोबाइल दुकान के सामने खड़ी स्कूटी की डिग्गी को खोलकर एक लाख रुपये चोरी करने के मामले में पुलिस ने दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। लेकिन पुलिस की पूछताछ के बाद भी आरोपित निकाले गए पैसे की सही जानकारी नहीं दे रहे हैं। अभी तक की पूछताछ में आरोपितों ने 20 हजार रुपये चोरी होने की जानकारी दी है, लेकिन पीड़ित के द्वारा लगातार एक लाख रुपये चोरी होने की बात कही जा रही है। पुलिस का कहना है कि जल्द ही आरोपितों से पूछताछ के बाद रिकवरी की जाएगी।

सिविल लाइंस थाना क्षेत्र के चंद्रनगर निवासी परवेंद्र कुमार रेलवे से सेवानिवृत्त कर्मचारी हैं। बीते 23 जून को डीआरएम दफ्तर की स्टेट बैंक शाखा से एक लाख रुपये निकाले थे। इस दौरान वह पैसे स्कूटी की डिग्गी में डालकर मोबाइल रिचार्ज कराने के लिए कपूर कंपनी चौराहे पर गए थे। लेकिन जैसे ही वह दुकान के बाहर स्कूटी खड़ी करके अंदर गए,वैसे ही दो युवक डिग्गी को खोलकर पैसे निकाल भाग गए। पीड़ित ने सिविल लाइंस थाने में तहरीर देकर मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने इस मामले में मझोला थाना क्षेत्र के भोला सिंह की मिलक निवासी विजय पाल और सुरेंद्र नाम के दो संदिग्धों को पकड़ा गया है। पुलिस की पूछताछ में आरोपितों के पास से पैसे के साथ ही दस्तावेज बरामद हुए हैं। वहीं पुलिस ने काली पल्सर मोटर साइकिल भी बरामद की है। हालांकि अभी तक पूरी रकम पुलिस बरामद नहीं कर पाई है। संदिग्धों ने बताया कि वह बैंक से ही उनका पीछा करते हुए कपूर कंपनी पुल तक पहुंच गए थे। इसके बाद मास्टर चाबी से डिग्गी को खोलकर पैसे निकाल ले गए थे। सिविल लाइंस थाना प्रभारी सहंसरवीर सिंह ने बताया कि संदिग्धों से पूछताछ की जा रही है,जल्द ही पूरे मामले का पर्दाफाश किया जाएगा। पुलिस बारीकी से जांच कर रही है।

 

Edited By: Narendra Kumar