मुरादाबाद, जेएनएन। Indian Railway News : वर्ष 2020 में कोरोना संक्रमण तेजी से फैलने के कारण रेलवे ने ट्रेनों का संचालन रोक दिया था। इससे रेलवे को काफी नुकसान हुआ था। इसके बाद धीरे-धीरे रेलवे ने ट्रेनों को चलाना शुरू किया। पहले नियमित ट्रेनों को स्पेशल बनाकर चलाया, लेकिन अब फिर से नियमित ट्रेनों को पटरी पर उतार दिया है। इस दौरान रेल यात्रियों ने ऐसी गलती की जिससे रेलवे को फायदा हो गया। दरअसल, ट्रेनों के चलने के बाद रेलवे ने अपनेे चेकिंग अभियान में तेजी ला दी। बीते नौ महीने के आंकड़ों पर नजर डालें तो उत्तर रेलवे में टिकट चेकिंग टीम ने एक सौ करोड़ रुपये का जुर्माना वसूल किया।ये जुर्माना बिना टिकट यात्रा करते पाए गए यात्रियों पर लगा है।

उत्तर रेलवे प्रशासन ने बताया कि एक अप्रैल 21 से 5 दिसंबर 21 तक उत्तर रेलवे के सभी मंडलों की टीम ने बिना टिकट यात्रियों के लिए लगातार चेकिंग अभियान चलाया गया था। इस दौरान जिससे कंफर्म टिकट नहीं मिल रहे थे, वह बिना टिकट ही सफर करने लगे। रेलवे ने इन दौरान एक सौ करोड़ रुपये का जुर्माना वसूल किया है। मुरादाबाद रेल मंडल ने नवंबर में ही 7.33 करोड़ रुपये जुर्मानेे की वसूली की। उत्तर रेलवे महाप्रबंधक आशुतोष गंगल ने जोन के सभी चेकिंग स्टाफ की सराहना की और इस तरह की लगातार चेकिंग जारी रखने के आदेश दिए हैं।

रेलवे कर्मचारियों ने आपात स्थिति में मदद का किया प्रदर्शन : रेलवे नागरिक सुरक्षा संगठन द्वारा नागरिक सुरक्षा दिवस के उपलक्ष्य में कार्यक्रम का आयोजन रेलवे स्टेडियम में किया गया। इसमें रेलवे कर्मचारियों ने दुर्घटना से बचाने के लिए काल्पनिक हवाई हमला से बचाव कार्यों प्रदर्शन किया गया। कार्यक्रम का उद्घाटन मंडल रेल प्रबंधक अजय नंदन ने किया और नागरिक सुरक्षा संगठन के सदस्य रेलवे कर्मचारियों से परिचय लिया। उसके बाद सदस्यों ने हवाई हमले के बाद घायल हुए लोगों को प्राथमिक चिकित्सा करने और अस्पताल पहुंचाने का डेमो दिया गया।

इसके अलावा बहुमंजिला भवन में आग लगने पर बचाव कार्य, आग लगने पर आग बुझाने का कार्य करने और अन्य आपदा पर नागरिकों की मदद करने की जानकारी दी गई। इसके बाद मंडल रेल प्रबंधक ने कहा कि अब हवाई हमले नहीं होते हैं, लेकिन सड़क दुर्घटनाएं, आग लगने की घटना, प्राकृतिक आपदा बाढ़ व भूकंप के समय काफी नागरिक आहत होते हैं, जिससे मदद की आवश्यकता होती है, नागरिक सुरक्षा संगठन के सदस्यों को इसके लिए नये सदस्य बनाने का प्रयास करना चाहिए। इस अवसर पर अपर मंडल रेल प्रबंधक (ओपी) मान सिंह मीना, अपर मंडल रेल प्रबंधक (इंफ्रा) एनएन सिंह, प्रवर मंडल संरक्षा अधिकारी आरके तायल, प्रवर मंडल वाणिज्य प्रबंधक सुधीर सिंह, एसके शर्मा व हरदीप सिंह प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

Edited By: Samanvay Pandey