Move to Jagran APP

Railway News: अब चारधाम के पहले रेलवे स्‍टेशन योगनगरी तक सौ किमी प्रति घंटा की गति से चलेंगी ट्रेनें

Chardham Rail Route चारधाम रेलमार्ग के पहले रेलवे स्टेशन योगनगरी तक ट्रेनों का संचालन शुरू हो चुका है। वर्तमान में हरिद्वार से योगनगरी तक ट्रेनें 50 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से चलती थीं। अब इसकी गति बढ़ाकर सौ किमी प्रतिघंटा कर दी गई है।

By Vivek BajpaiEdited By: Published: Mon, 19 Sep 2022 11:28 AM (IST)Updated: Mon, 19 Sep 2022 11:28 AM (IST)
Chardham Rail Route News: ट्रेनों की गति बढ़ने से यात्रियों का समय बचेगा। सौ. गूगल

मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। Chardham Rail Route First Station: रेल प्रशासन ने चारधाम रेलमार्ग के पहले स्टेशन योगनगरी तक ट्रेनों को सौ किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से चलाने की स्वीकृति दे दी है। इससे अब मुरादाबाद से योगनगरी तक जाने में कम समय लगेगा। शीघ्र ही लक्सर से हरिद्वार तक ट्रेनों की गति बढ़ाने के लिए स्वीकृति मिलने जा रही है। आपत्ति के कारण हरिद्वार से देहरादून तक ट्रेनों को धीमी गति से चलाया जाएगा।

रेल मंत्रालय ने सभी मार्गों पर ट्रेनों की गति बढ़ाने के लिए आवश्यक सुधार कराने का आदेश दिया है। चारधाम रेलमार्ग के पहले रेलवे स्टेशन योगनगरी तक ट्रेनों का संचालन शुरू हो चुका है। वर्तमान में हरिद्वार से योगनगरी तक ट्रेनें 50 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से चलती थीं। अब इसकी गति बढ़ाकर सौ किमी प्रतिघंटा कर दी गई है।

एक अक्टूबर से प्रस्तावित नए टाइम टेबल में योगनगरी तक जाने वाली व वहां से बनकर चलने वाली ट्रेनों के समय में बदलाव किया जाएगा। लक्सर से हरिद्वार तक वर्तमान में ट्रेन सौ किलो मीटर प्रतिघंटा की रफ्तार ले चल रही हैं। इस मार्ग पर 121 प्रतिघंटा की रफ्तार से ट्रेनों को चलाने का ट्रायल हो चुका है। रेलवे मुख्यालय से सितंबर के अंतिम सप्ताह तक इस मार्ग पर ट्रेनों की गति बढ़ने की अनुमति मिल जाएगी। इसके बाद ट्रेनें लक्सर से हरिद्वार 40 के बजाय 25 मिनट में पहुंचने लगेंगी।

दूसरी ओर हरिद्वार से देहरादून तक ट्रेनों को तेज गति से चलाने के लिए पिछले दिनों ट्रायल किया गया। ट्रायल में रेल लाइन को सौ किमी प्रतिघंटा की रफ्तार पर चलाने के लिए ठीक मिलीं। राजाजी नेशनल पार्क प्रशासन ने कहा कि यह रेलमार्ग जंगल के बीच से गुजरता है, इसमें हाथी व अन्य जंगली जानवर रहते हैं। ट्रेन से टकरा कर कई हाथियों की मौत हो चुकी है। इसलिए दिन में 50 और रात में 35 किमी प्रतिघंटा की रफ्तार से ट्रेनें चलाई जानी चाहिए। वरिष्ठ मंडल वाणिज्य प्रबंधक सुधीर सिंह ने बताया कि रायवाला से योगनगरी तक ट्रेनों की गति बढ़ाकर सौ किमी प्रतिघंटा कर दी गई है।


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.