मुरादाबाद (प्रदीप चौरसिया)। आने वाले समय में रेलवे स्टेशन का पूछताछ केंद्र कॉल सेंटर की तरह होगा। इसमें ट्रेनों से संबंधित जानकारी बिना किसी परेशानी के उपलब्ध होगी। रेलवे तेजस जैसी ट्रेनों को प्राइवेट कंपनी को देने के साथ खान-पान व्यवस्था प्राइवेट कंपनियों को दे चुका है। अब पूछताछ कक्ष को भी प्राइवेट कंपनी को देने की तैयारी है। इसके लिए मुरादाबाद रेल मंडल शीघ्र निविदा आमंत्रित करने जा रहा है। यहां तैनात कर्मियों को अन्य स्थानों पर तैनात करने जा रहा है। इसके लिए कर्मचारियों को पदनाम भी बदलने की भी तैयारी है। पूछताछ कक्ष में तैनात कर्मियों का पदनाम इंक्वायरी कम रिजर्वेशन क्लर्क है। इस पदनाम को संशोधित कर पूछताछ क्लर्क होगा।

ऐसे होंगे इंक्वायरी केंद्र

पूछताछ कक्ष ठेके पर देने बाद कॉल सेंटर की तरह दिखाई देगा। यहां तैनात सभी कर्मियों के पास कंप्यूटर होंगे। एक साथ कई यात्रियों को ट्रेन कब और किस प्लेटफार्म पर आएगी यह जानकारी देगा। यात्री दूसरे स्टेशनों पर आने वाली ट्रेनों की जानकारी कर पाएंगे। देरी से चलने वाली ट्रेनों को जानकारी मिलेगा। यात्रियों को भीड़ से दो चार नहीं होना होगा। 

ए व बी श्रेणी के स्टेशनों पर होगी सुविधा

केवल ए व बी श्रेणी के स्टेशनों के पूछताछ केंद्र की सुविधा मिलेगी। अन्य स्टेशनों पर स्टेशन मास्टर ही ट्रेन के बारे में जानकारी देंगे। मुरादाबाद रेल मंडल में 150 स्टेशन है, जिसमें 20 स्टेशनों पर पूछताछ कक्ष की सुविधा होंगी। 

निजी कंपनी के हवाले होगा पूछताछ कक्ष

प्रवर मंडल वाणिज्य प्रबंधक रेखा का कहना है कि स्टेशन पर पूछताछ कक्ष को निजी कंपनी को ठेका पर दिया जाना है। इसके लिए क्या नियमावली है, इसकी जानकारी मांगी गई है। छोटे स्टेशन पर पूछताछ कक्ष की सुविधा नहीं होगी, वहां स्टेशन मास्टर ट्रेनों के आने की जानकारी उपलब्ध कराएगा। 

 

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस