अमरोहा, जेएनएन। पांच साल तक के बच्चों का कुपोषण दूर करने को गांव-गांव नोडल अधिकारियों की फिर से तैनाती की जाएगी। जिलाधिकारी उमेश मिश्र के आदेश के बाद विभाग ने गंभीर कुपोषित बच्चों वाले गांवों को चिह्नित करने की कवायद तेज कर दी है। एक दिसंबर से नोडल अधिकारी 50 कुपोषित गांवों में तैनात कर दिए जाएंगे। 

बता दें कि राष्ट्रीय पोषण मिशन के अंतर्गत सितंबर माह को पोषण माह के रूप मनाया गया था। एक सितंबर को जिलेभर में अभियान चलाकर 1430 आंगनबाड़ी केंद्रों पर शून्य से पांच साल तक के 1,27,267 बच्चों का वजन किया गया था। इनमें से जिलेभर में 11,358 बच्चे कुपोषित (पीली श्रेणी) तथा 3548 बच्चे अति कुपोषित (लाल श्रेणी) के पाए गए थे। जिलाधिकारी उमेश मिश्र ने ग्रामीणों को कुपोषण के प्रति जागरूक करने के साथ ही लाल श्रेणी के बच्चों को पोषण पुनर्वास केंद्र में भर्ती कराकर सामान्य श्रेणी में लाए जाने के निर्देश दिए थे। लेकिन दो माह तक स्थिति में अपेक्षा के अनुरूप सुधार न होने पर डीएम ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को ज्यादा कुपोषित बच्चों वाले 50 गांवों को चिह्नित करके वहां नोडल अधिकारियों को तैनात किए जाने के निर्देश दिए हैं। जिला कार्यक्रम अधिकारी संजीव कुमार ङ्क्षसह ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर गंगा मेले के बाद 50 गांवों को चिह्नित करके वहां 25 जिला स्तरीय अधिकारियों को नोडल अधिकारियों के रूप में तैनात कर दिया जाएगा।

 

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप