मुरादाबाद, जेएनएन। Moradabad Samadhan Diwas : जनपद की सभी तहसीलों पर शनिवार को संपूर्ण समाधान दिवस का आयोजन किया गया। सदर तहसील में जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह और एसएसपी बबलू कुमार की मौजूदगी में समाधान दिवस हुआ। दोपहर 12 बजे तक अधिकारी फरियादियों का इंतजार करते रहे। दोपहर बाद लोग समस्याएं लेकर तहसील सभागार में पहुंचे। कुल 47 शिकायतें आईं, जिनमें से मात्र तीन का समाधान हो पाया। समाधान दिवस में जिलाधिकारी ने कहा कि अधिकारियों की जिम्मेदारी होगी कि वह संबंधित प्रार्थना पत्रों को उसी दिन प्राप्त करने के बाद ही तहसील कार्यालय छोड़े।

आवेदन पत्रों की प्राप्ति की पूरी व्यवस्था संबंधित तहसीलदार की देखरेख में की जाएगी। उसी दिन सभी प्रार्थना पत्रों का कंप्यूटर पर अंकन कराना भी संबंधित तहसीलदार व उपजिलाधिकारी सुनिश्चित करेंगे। शिकायती प्रार्थना पत्र पर अपेक्षित निस्तारण कार्यवाही व प्रगति की स्थिति भी संबंधित अधिकारी द्वारा आइजीआरएस पोर्टल पर अपलोड की जाएगी। समाधान दिवस में सबसे अधिक 32 शिकायतें राजस्व विभाग की आईं, इनमें तीन का मौके पर निस्तारण कर दिया गया। पुलिस की पांच, विकास विभाग की चार, स्वास्थ्य विभाग की एक, विद्युत विभाग की तीन व दो अन्य शिकायतें आईं, इनमें से किसी का भी समाधान नहीं हुआ।

पोषण पोटली का किया वितरणः संपूर्ण समाधान दिवस में जिलाधिकारी शैलेंद्र कुमार सिंह ने 30 सितंबर तक चलने वाले राष्ट्रीय पोषण माह में स्वास्थ्य एवं पोषण के दृष्टिगत महिलाओं को पोषण पोटलियां वितरित कीं। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने कहा कि बच्चे के जन्म से 1000 दिन तक अच्छी देखभाल की आवश्यकता होती है। इसी बीच में बच्चे की मानसिक प्रगति का समय होता है, जिससे बच्चों का पोषणयुकत भोजन से एनीमिया, डायरिया रोग से बचे रहते हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एमसी गर्ग, एसडीएम सदर प्रशांत तिवारी, सीओ सिविल लाइन इंदू सिद्धार्थ, तहसीलदार, खंड विकास अधिकारी सहित अन्य जनपद स्तरीय अधिकारीगण मौजूद रहे।

Edited By: Samanvay Pandey