मुरादाबाद, जेएनएन। पंचायत चुनाव में ड्यूटी करते समय कोविड-19 से मौत हो जाने पर कर्मचारी के स्वजनों को 30 लाख रुपये की अनुग्रह राशि मिलेगी। अपर मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश शासन मनोज कुमार सिंह ने प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों को पत्र लिखकर तीन दिन में डिटेल मांगी है। डीएम को अनुग्रह राशि दिए जाने के लिए संस्तुति करके रिपोर्ट भेजनी होगी।

पत्र में लिखा है कि प्रशिक्षण अथवा मतदान और मतगणना ड्यूटी के दौरान असामयिक दुर्घटना में मौत होने पर 15 लाख, ड्यूटी के दौरान आतंकी हमले, हिंसा और असामाजिक तत्वों द्वारा हत्या किए और कोविड-19 से मौत होने पर 30 लाख, दिव्यांगता पूरी आंख, हाथ पैर आदि कट जाने पर 15 लाख रुपये की अनुग्रह राशि दी जाएगी। इसके अलावा अन्य किसी स्थाई दिव्यांगता होने पर साढ़े सात लाख रुपये की अनुग्रह राशि मृतक के स्वजनों को मिलेगी। इसके लिए दावा करने वालों को मृत्यु प्रमाण पत्र, कोविड-19 की टेस्ट रिपोर्ट और मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा जारी किया गया प्रमाण पत्र देना होगा। जिस जिले में कर्मचारी अधिकारी की मौत हुई है, वहीं से अनुग्रह राशि भी दी जानी है। सबसे अहम बात यह है कि ड्यूटी के दौरान मौत होने पर ही इसका लाभ मिल पाएगा। इसमें चुनाव प्रेक्षक से लेकर सभी अधिकारी और कर्मचारियों को लाभ मिलेगा। पुलिस को ड्यूटी स्थान के लिए चलने से लेकर वापस होने तक के समय को माना जाएगा। मुख्य विकास अधिकारी आनंद वर्धन ने बताया कि पंचायत चुनाव के दौरान जिन अधिकारी व कर्मचारियों की मृत्यु हुई है, उनके बारे में पता कराया जा रहा है। सत्यापन होने के बाद ही आगे की कार्रवाई होगी।

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप