मुरादाबाद, जागरण संवाददाता: औषधि प्रशासन की टीम ने मुगलपुरा थाना क्षेत्र के दो दवा दुकानों की जांच किया, जहां खरीद-बिक्री की रसीद नहीं होने के कारण दो दवाओं को सील किया है। दोनों दवाओं का प्रयोग नशे का आदि लोगों द्वारा किया जाता है। जिलाधिकारी व औषधि प्रशासन को लगातार शिकायत मिल रही थी कि मुगलपुरा थाना क्षेत्र के दवा दुकानदारों द्वारा नशे की दवाइयां बेची जा रही हैं। 

जिलाधिकारी के आदेश पर गुरुवार को औषधि निरीक्षक मुकेश जैन व उर्मिला मुगलपुरा थाना क्षेत्र बरवालान स्थिति नाजिम मेडिकल स्टोर पर पहुंचे। टीम को देखकर दुकानदार भाग निकला। टीम ने दुकानदार के घर से स्वजन को बुलाया और दुकान की जांच की। यहां नींद और नशे की 1740 टेबलेट मिलीं। 

दुकानदार पर दवा की खरीद व बिक्री करने की रसीद नहीं मिलने पर दवा को सील कर दिया। टीम ने इसके बाद चामुंडा गली में उमर मेडिकल स्टोर की जांच की। जहां आठ बोतल कफ सीरप मिला, दुकानदार इसकी खरीद बिक्री का रसीद नहीं दिखा पाया। इस दवा को सील कर दिया है। कफ सीरप का भी नशे के आदि लोगों द्वारा प्रयोग किया जाता है। 

औषधि निरीक्षक मुकेश जैन ने बताया कि दोनों दवाओं के नमूने भी लिए गए हैं। साथ ही दुकानदारों को नोटिस देकर एक सप्ताह में दवा की खरीद-बिक्री का रसीद प्रस्तुत करने का आदेश दिया है। निर्धारित समय पर जवाब नहीं मिलने पर दोनों दुकानदारों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जाएगा। 

खाद्य पदार्थों के लिए नमूने

मुरादाबाद: सहायक आयुक्त खाद्य बिनोद सिंह ने बताया कि खाद्य सुरक्षा अधिकारी ने गुरुवार को पाकबड़ा चिकन कार्नर की जांच कराई। यहां से बेसन व दही के नमूने लेकर जांच के लिए राजकीय प्रयोगशाला भेजे गए हैं। जांच रिपोर्ट आने के बाद कार्रवाई की जाएगी।

Edited By: Shivam Yadav

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट