मुरादाबाद, जेएनएन। करीब तीन माह पूर्व अल्कोहल बनाने में प्रयोग होने वाला एक्सट्रा न्यूट्रल अल्कोहल (ईएनए) से भरा एक टैंकर अगवानपुर के ढाबे में पकड़ा गया था। इस टैंकर को छोड़ने के लिए सीजेएम कोर्ट से आदेश जारी किए गए थे। कोर्ट से आदेश जारी होने के बाद भी थाना पुलिस के द्वारा टैंकर को नहीं छोड़ा। सीजेएम कोर्ट ने चार बार थाना प्रभारी को तलब करते हुए टैंकर छोड़ने संबंधी नोटिस जारी किया। इसके बाद सीजेएम कोर्ट ने पुलिस की हठधर्मिता का संज्ञान लेते हुए एसएसपी को नोटिस जारी करते हुए जवाब मांगा है।

इसके साथ ही यह भी आदेश दिया गया है कि कोर्ट का आदेश न मानने वाले थानेदार के खिलाफ तीन दिन में कार्रवाई की जाए। सिविल लाइंस थाना क्षेत्र के अगवानपुर में बीते आठ फरवरी 2021 को बिहार से पंजाब जा रहे एक्स्ट्रा न्यूट्रल अल्कोहल के टैंकर से चोरी से अल्कोहल निकालकर बेचते हुए छह लोगों को गिरफ्तार किया गया था।

एसटीएफ और सिविल लाइंस पुलिस ने बहुत ही गोपनीय रूप से इस काम को अंजाम दिया था। अल्कोहल से अवैध शराब बनाकर आस-पास के क्षेत्रों में बेचने का काम किया जाता था। पुलिस ने आरोपितों को गिरफ्तार करके जेल भेजने के साथ ही अल्कोहल से भरे टैंकर को सिविल लाइंस थाने में लाकर खड़ा कर लिया था।

थाने से टैंकर को रिलीज कराने के लिए बलबीर सिंह निवासी साहबजादा नगर, मोहाली पंजाब के द्वारा सीजेएम कोर्ट में अपील दाखिल की गई थी। अधिवक्ता संजीव चंद्रवंशी ने बताया कि कोर्ट ने 20 लाख रुपये के अनुबंध जमानत पत्रों दाखिल करने के बाद 13 अप्रैल 2021 को सिविल लाइंस थाना प्रभारी को टैंकर छोड़ने के आदेश जारी किए थे।

लेकिन इस आदेश के बाद भी थाना पुलिस ने टैंकर को रिलीज नहीं किया। इसके बाद बीते एक माह में सीजेएम कोर्ट ने तीन नोटिस थाना पुलिस को जारी किए,लेकिन थाना प्रभारी के द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई। लगातार कोर्ट के नोटिस की अनदेखी करने और आदेश न मानने पर सीजेएम कोर्ट ने बुधवार को सीधे एसएसपी को नोटिस जारी किया।

जिसमें काेर्ट ने आदेश का अनुपालन कराने के साथ ही तीन दिनों में संबंधित थाना प्रभारी पर कार्रवाई का आदेश दिया है। कोर्ट के इस नोटिस के बाद से थाने के साथ सर्किल दफ्तर में खलबली मच गई है।