मुरादाबाद, जेएनएन। कोरोना का टीका लगाने के बाद भी एक स्वास्थ्य कर्मचारी कोरोना संक्रमित हो गया है। हालांकि बुखार आदि का कोई लक्षण नहीं हैं। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एमसी गर्ग ने बताया कि टीका लगने के बाद भी कोरोना का संक्रमण हो सकता है। टीका लगवाने वाले व्यक्ति को जान का खतरा नहीं होता है। कोरोना का नमूना लेने वाले कर्मियों का समय समय पर स्वास्थ्य विभाग परीक्षण कराता है। 

जांच रिपोर्ट में कोरोना का नमूना लेने वाला स्वास्थ्य कर्मचारी संक्रमित मिला है। बता दें क‍ि जुलाई 2020 में भी यह कर्मचारी कोरोना संक्रमित हो गया था। इलाज के बाद यह कर्मचारी पूरी तरह से ठीक हो गया था। फिर से स्वास्थ्य कर्मचारी ने कोरोना की जांच के लिए नमूना लेना शुरू कर दिया था। कोरोना का टीका आने पर सबसे पहले स्वास्थ्य कर्मियों को टीका लगाया गया था। इस दौरान कोरोना का नमूना लेने वाले कर्मचारी को टीका की दोनों डोज लगाई गई थी। स्वास्थ्य विभाग इसके बाद भी सावधानी के लिए स्वास्थ्य कर्मियों का समय समय पर नमूना लेकर कोरोना की जांच कराते रहता है। जांच रिपोर्ट में 30 वर्षीय कर्मचारी कोरोना संक्रमित पाया गया। टीका लगवाने के बाद भी कर्मचारी के कोरोना संक्रमित होने की सीएमओ आफिस में चर्चा होनी शुरू हो गई। मुख्य चिकित्साधिकारी डा. एमसी गर्ग ने बताया कि एक स्वास्थ्य कर्मचारी टीका लगवाने के बाद कोरोना संक्रमित हो गया है।  संक्रमित स्वास्थ्य कर्मचारी पूरी तरह से ठीक है, बीमारी के कोई लक्ष्ण नहीं होने के कारण कर्मचारी को होम क्वारंटाइन कर दिया गया है।

 

Edited By: Narendra Kumar