मुरादाबाद, जेएनएन। Moradabad Airport News : मुरादाबाद के लोग आठ साल से हवाई उड़ान का सपना देख रहे हैं। करीब एक महीने पहले प्रशासनिक अधिकारियों ने एयरपोर्ट अक्टूबर में शुरू करने का दावा किया था लेकिन, मौजूदा हालात कुछ और ही बयां कर रहे हैं।एयरपोर्ट में रनवे निर्माण के साथ ही अन्य सभी निर्माण कार्य को पूरा कर दिया गया है।

निर्माण पूरा पर कागजी कार्रवाई अधूरी

लगेज जांच के लिए मशीने भी आ चुकी है। स्थानीय स्तर पर एयरपोर्ट सुरक्षा के लिए 65 पुलिस कर्मियों को प्रशिक्षण के बाद तैनात भी कर दिया गया है। लेकिन अभी तक कुछ कागजी कार्रवाई ऐसी हैं जो पूरी होनी बाकी हैं, जिसमें समय लग सकता है। जिसके चलते अक्टूबर में हवाई उड़ान शुरू होना मुश्किल लग रहा है।

उत्तर प्रदेश शासन को लिखा गया पत्र

दरअसल, मुरादाबाद हवाई पट्टी को हवाई अड्डे में परिवर्तित करने का कार्य उप्र राजकीय निर्माण निगम ने कराया है। अभी इसकी देखरेख की जिम्मेदारी निगम के पास ही है। हवाई अड्डे को मुरादाबाद प्रशासन को हैंडओवर करने के लिए उप्र शासन को पत्र लिखा गया है।

हैंडओवर की प्रक्रिया में लगेंगे दो महीने

प्रदेश सरकार से जिला प्रशासन को हैंडओवर करने की प्रक्रिया में कम से दो महीने का समय लगेगा। इसके अलावा विमानन नियामक महानिदेशक सिविल एविएशन (डीजीसीए) से उड़ान के लिए लाइसेंस प्राप्त करने के लिए आवेदन किया जा चुका है। क्योंकि एयरपोर्ट अथारिटी आफ इंडिया की टीम मुरादाबाद के रनवे का निरीक्षण कर ओके रिपोर्ट दे चुकी है।

मंत्री ने दिसंबर में सेवा शुरू होने का लिखा था पत्र

नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पूर्व राज्यसभा सदस्य सैयद जफर इस्लाम द्वारा मुरादाबाद से उड़ान शुरू कराने के लिए पत्र लिखा था। इसके उत्तर में उन्होंने दिसंबर तक उड़ान शुरू होने और मुरादाबाद से संभावित उड़ान के बारे में पत्र लिख्रकर उत्तर दिया था।

अफसरों को अक्टूबर में शुरू होने की थी उम्मीद

मुरादाबाद के अफसरों को उम्मीद है कि अक्टूबर में उड़ान के लिए लाइसेंस मिल जाएगा। क्योंकि इसके लिए दो महीने पहले ही आवेदन किया जा चुका है। इसके बाद एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया की टीम ने मुरादाबाद के रनवे का निरीक्षण करके ओके रिपोर्ट दी थी। लेकिन, अभी तक लाइसेंस नहीं मिलने के कारण अक्टूबर में मुरादाबाद के लोगों को हवाई उड़ान का लाभ मिलने की उम्मीद कम है।

एयरपोर्ट की जमीन की रजिस्ट्री का काम पूरा

मूंढापांडे एयरपोर्ट की रजिस्ट्री की कार्रवाई पूरी हो चुकी है। जिला पंचायत से अनापत्ति प्रमाण पत्र जारी हो चुका है। जिसके बाद एयरपोर्ट को राज्य संपत्ति के रूप में राज्यपाल के नाम से शासनादेश भी प्रकाशित किया चुका है।

Edited By: Samanvay Pandey

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट