मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। सम्‍भल में क‍िशोरी की तलाश में जुटी पुलिस के लिए एक फोन राहत दे गया। किशोरी को आधार कार्ड की जरूरत पड़ी तो उसने पिता को फोन कर दिया। वह फोन पर बात करते हुए बहुत परेशान लग रही थी और सम्भल आने के लिए पिता से आधार कार्ड मांग रही थी। इतनी ही देर में पुलिस ने उसकी गोवा में लोकेशन सर्च की और स्थानीय पुलिस का सहयोग लेकर किशोरी और किशोरी को पकड़ ल‍िया। उधर किशोर किशोरी का चेहरा छुपाने के लिए उसे बुर्का पहनवा रहा था।

कोतवाली क्षेत्र के एक मुहल्ला निवासी चिकित्सक की बेटी का हेड कांस्टेबल अरविंद के बेटे ने अपहरण कर लिया था। मामला दो संप्रदाय से जुड़ा होने के चलते हिंदू संगठनों के पदाधिकारियों ने कोतवाली में धरना दिया था तो महापंचायत कर पूरे जिले में चक्काजाम करने की भी चेतावनी दी थी। इसके बाद शुक्रवार को स्वजन तहसील में धरने पर भी बैठ गए थे। उधर शाम को किशोरी ने घबराते हुए अपने पिता को फोन किया। पिता से कहा कि मैं सम्भल आना चाहती हूं मुझे मेरा आधार कार्ड भेज दो। फोन आने की जानकारी पुलिस को लगी तो लोकेशन सर्च करना शुरू कर दिया। कुछ देर बाद फिर से फोन आया तो लोकेशन गोवा की निकली। इसके बाद पुलिस ने गोवा पुलिस की मदद ली और लोकेशन के माध्यम से दोनों को पकड़वा दिया। उधर मिली जानकारी के अनुसार किशोरी किशोरी का चेहरा छुपाने के लिए उसे बुर्का पहनवा रहा था। जिससे वह पकड़ा न जा सके।

 

Edited By: Narendra Kumar