मुरादाबाद, जेएनएन। ठाकुरद्वारा में उस वक्त अफरातफरी मच गई जब एक तेंदुए ने मां-बेटे पर हमला कर घायल कर दिया। इससे गुस्साए लोगों ने तेंदुए को घेरकर लाठी-डंडों से पीटा और रस्सियों से बांधकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस और वन विभाग की टीम ने मौके पर पहुंचकर घायल तेंदुए को कब्जे में ले लिया। तेंदुए का उपचार कराया जा रहा है। वहीं दूसरी ओर घायलों को सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। 

नगर के मुहल्ला बहेड़ा वाला में शाहर अली का घर आबादी के बाहरी छोर पर है। शनिवार की सुबह शाहर अली का बड़ा बेटा मुर्तजा अली घर के दरवाजे पर खड़ा था तभी निकट के कब्रिस्तान से निकलकर तेंदुए ने उस पर हमला कर दिया। तेंदुए ने उसका एक हाथ जबड़े में जमा लिया। चीख-पुकार मचने पर मुहल्ले के लोग दौड़े तो तेंदुआ घर में घुस गया और चारपाई पर बैठी मुर्तुजा की मां जाफरी पर टूट पड़ा। उसको भी जख्मी कर दिया। कुछ ही देर में पूरे मुहल्ले में अफरातफरी मच गई जिसे जहां जगह मिली वह वहीं पर छिप गया। हालांकि कुछ ही देर में लोगों का डर गुस्से में बदल गया। इसके बाद मुहल्ले के लोगों ने लाठी-डंडे लेकर घर को चारों तरफ से घेर लिया। घर में बंद कर तेंदुए को जमकर लाठी-डंडों से पीटा और रस्सियों से बांध दिया। इसके बाद पुलिस को सूचना दी। सूचना पर पुलिस और वन विभाग की टीम मौके पर पहुंची और घायल तेंदुए को कब्जे में लेकर उपचार के लिए भेज दिया। घायल मां और बेटे को नगर के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। प्राथमिक उपचार के बाद जिला मुख्यालय रेफर कर दिया गया है।

कई लोगों की जा चुकी है जान 

तेंदुए के हमले में अब तक कई लोगों की जान भी जा चुकी है। कई बार तेंदुआ हमला कर लोगों को घायल भी कर चुका है। देहात के कई इलाके तो ऐसे हैं जहां गांव के लोग अकेले जाने से डरते हैं। 

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस