मुरादाबाद: बिलारी थानाक्षेत्र के सरकड़ा गांव में आइजीआरएस (मुख्यमंत्री शिकायत पोर्टल ) की जांच करने पहुंचे जेई को बंधक बना लिया। टीम पर हमला किया गया। मुश्किल से टीम ग्रामीणों की मदद से जान बचाकर निकली। पुलिस ने एक नामजद समेत अन्य के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।

आरजीआरएस की शिकायत का निस्तारण करने पहुंची थी टीम -घरेलू आपूर्ति वाले ट्रांसफार्मर पर अवैध रूप से ट्यूबवेल चलाने की शिकायत आइजीआरएस पर की गयी। इसके तत्काल निस्तारण के लिए उच्चाधिकारियों के निर्देश पर जांच करने पहुंचे सहसपुर के अवर अभियंता शुभम पांडेय, लाईनमैन हरी सिंह और अमित के साथ पहुंचे। मौके पर टीकम सिंह ने घरेलू कनेक्शन से ट्यूबवेल कनेक्शन देने का दबाव बनाया। इस पर विवाद हो गया। शोर-शराबा होने पर भीड़ एकत्रित हो गई। तू-तू, मैं-मैं के बाद धक्का-मुक्की होने लगी। आरोप है कि मना करने पर टीकम सिंह ने करीब 20 साथियों से मिलकर जमकर अवर अभियंता और टीम पर हमला कर दिया। इसकी जानकारी पर ग्रामीण एकत्रित हो गए। उन्होंने बीच-बचाव कराया। ग्रामीणों की मदद से जैसे-तैसे बिजली विभाग की टीम जान बचाकर भागी। घटना से फरातफरी मच गयी। एक नामजद समेत अन्य के खिलाफ रिपोर्ट

-मामले को लेकर प्रभारी अवर अभियंता शम्स तवरेज ने बिलारी थाने में लिखित तहरीर दी है। इस पर आरोपित टीकम सिंह सहित उनके अन्य साथियों के खिलाफ सरकारी काम में बाधा पहुंचाने, मारपीट करने और जान से मारने की धमकी देने की धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया है।

हमले नहीं किए जाएंगे बर्दाश्त -इस तरह के मामले कतई बर्दाश्त नहीं किये जाएंगे। पुलिस को लिखित तहरीर देकर आरोपित टीकम सिंह और उनके साथियों पर मुकदमा दर्ज कराया गया है। हुकुम सिंह लगातार 25 केवीए के घरेलू ट्रांसफार्मर से ट्यूबबेल कनेक्शन देने का दबाव बना रहे थे। पुलिस व प्रशासन से अपील है कि ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई करें।

भूप सिंह, अधिशासी अभियंता

Posted By: Jagran