मुरादाबाद, जेएनएन: यह मामला कुछ अजीब है क्योंकि मारपीट के मामले में शांतिभंग की कार्रवाई में कोर्ट या तो आरोपित को मामूली धनराशि के मुचलका भरने पर जमानत दे देती है या फिर जेल भेज देती है लेकिन यहां पर रकम के बजाए कोर्ट ने आरोपितों से पौधे लगवाए और जमानत दे दी। मामला तहसील में चर्चा का विषय बना है।

यह मामला रामपुर जिले के स्वार थानाक्षेत्र का है। यहां के गांव मिर्जापुर निवासी उमराव व सुरेश के बीच सोमवार को कूडा़ डालने को लेकर विवाद हो गया था। गाली-गलौज करने के साथ ही मारपीट हुई थी। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची और दोनों युवकों को हिरासत में ले कोतवाली ले आई और शांतिभंग की कार्रवाई की थी।दोनों आरोपितों को पुलिस ने परगनाधिकारी राकेश कुमार गुप्ता के कोर्ट में पुलिस ने हाजिर किया। अधिवक्ता राशिद खां ने जमानत के लिए प्राथना पत्र दाखिल किया। एसडीएम ने दोनों अभियुक्तों को तहसील परिसर में एक-एक पौधा लगाने पर जमानत स्वीकार कर ली गई। इस मौके इरफान अली, मुजफ्फर अली, पुलिस कर्मी मौजूद रहे। एसडीएम राकेश कुमार गुप्ता ने बताया कि पुलिस द्वारा 151 की कार्रवाई की गई थी, जिस पर दोनों युवकों को एक-एक पौधा लगाने के बाद जमानत पर छोड़ दिया। अधिवक्ता समेत तहसील कर्मी एसडीएम के इस कार्य की सराहना कर रहे हैं।

 

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप