मुरादाबाद, जेएनएन। सम्भल जिले की तहसील चन्दौसी क्षेत्र के गांव चितौरा निवासी आइटीबीपी का जवान प्रदीप यादव शुक्रवार को सुबह अरुणाचल प्रदेश से सटी चीन सीमा एलएसी पर साथियों के साथ पेट्रोलिंग करते समय शहीद हो गया। उच्च अधिकारियों ने पहले जवान के स्वजनों को चोटिल होने की जानकारी दी। दोपहर बाद उन्होंने जवान के शहीद होने की पुष्टि कर दी। हालांकि अभी तक चचेरे भाई के अलावा अन्य स्वजनों को इस मामले की जानकारी नहीं दी गई है।

कुढ़फतेहगढ़ थाना क्षेत्र के गांव चितौरा निवासी नंदराम सिंह यादव के चार बेटे हैं। इसमें से तीन बेटे सेना में थे। तीसरे नंबर का बेटा प्रदीप यादव (32) वर्ष 2009 में आइटीबीपी (तिब्बत सीमा सुरक्षा बल) में भर्ती हुए थे। जब वर्ष 2020 में चीन सीमा पर चीन से विवाद हुआ तो प्रदीप यादव को भी अरुणाचल प्रदेश से सटी चीन सीमा एलएसी पर तैनात कर दिया था। शुक्रवार को वह साथी जवानों के साथ अपने कैंप से 400 मीटर ऊंची पहाड़ की चोटी पर पेट्रोलिंग कर रहे थे।

वह एक पाइप के सहारे पहाड़ की चोटी पर जा रहे थे। उस समय वहां बर्फबारी हो रही थी। तभी पाइप से फिसल गए और चोटिल हो गए। हादसे के बाद उच्च अधिकारियों ने घायल होने की जानकारी फोन द्वारा जवान की पत्नी अनीता को दी। इसके बाद दोपहर 12 बजे प्रदीप यादव के फोन पर दोस्त अंकुर ठाकुर ने फोन किया तो अधिकारियों ने शहीद होने की पुष्टि की। हालांकि अभी तक अन्य स्वजनों को जवान के शहीद होने की जानकारी नहीं दी गई है। सीओ गोपाल सिंह ने बताया कि अभी तक जवान के स्वजनों को पूरी जानकारी नहीं दी गई है। शनिवार की शाम तक ही शव आएगा। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप