मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

रामपुर, जेएनएन। तीन तलाक कानून पास होने के बाद पत्नी को तीन तलाक देकर सुर्खियों में आए आरोपित को पुलिस ने जेल भेज दिया। आरोपित युवक पर दहेज में पांच लाख रुपयों के लिए पत्नी को तीन तलाक देने का आरोप था। 

मिलक में पीडि़ता ने एसडीएम ज्योति गौतम को तहरीर देते हुए न्याय न मिलने पर उनके समक्ष आत्मदाह की धमकी दी थी। तीन अगस्त को थाना दिवस में एसडीएम जन शिकायतों को सुन रही थीं। खाता नगरिया निवासी महिला सात माह के मासूम को लेकर कोतवाली पहुंची।उसने एसडीएम को बताया कि उसके पति ने दहेज में पांच लाख रुपये की मांग पूरी न करने पर ग्रामीणों के सामने उसे तीन तलाक दे दिया है। पीडि़ता ने एसडीएम से न्याय की गुहार लगाई और न्याय न मिलने पर आत्मदाह करने की धमकी दी थी। एसडीएम ने पीडि़ता को कानूनी कार्रवाई करने का भरोसा दिया और पुलिस को पीडि़ता के पति को कोतवाली बुलाने का पुलिस को आदेश दिया। पुलिस पीडि़ता के ससुराल पहुंची तो मौके से ससुराल वालों के साथ उसका पति फरार हो गया।मंगलवार को पुलिस ने आरोपी पति इमरान को गिरफ्तार कर लिया और उसे जेल भेज दिया। 

दहेज के लिए महिला को दिया तीन तलाक

रामपुर : तीन तलाक को लेकर कानून बनने के बाद भी ऐसे मामले कम नहीं हो रहे हैं। अब फिर एक महिला ने पति पर दहेज के लिए तीन तलाक दिए जाने का आरोप लगाते हुए शिकायत की है। पीडि़त महिला सिविल लाइंस की शहनाज है। उसका निकाह वर्ष 2009 में हुआ था। महिला का आरोप है कि शादी के बाद से ही उसे ससुराल में दहेज के लिए परेशान किया जाता था। वह अपना घर बचाने को सब कुछ सहती रही। ससुराली उसका उत्पीडऩ करते रहे। दहेज के लिए पति अक्सर मारपीट करता था। अब तीन तलाक देकर घर से निकाल दिया है। पीडि़ता ने महिला थाने में तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। महिला थाना प्रभारी रीना ङ्क्षसह ने बताया कि शिकायत मिली है, जिसकी जांच की जा रही है। जांच कर कार्रवाई की जाएगी। 

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप