मुरादाबाद, जागरण संवाददाता। Gang misdeed with former BKU female leader:  पूर्व भाकियू महिला नेता ने अपने करीबी नेता समेत आठ आरोपितों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म के आरोप में प्राथमिकी दर्ज कराई है। पीड़िता का कहना है कि आरोपितों ने विरोध करने पर चेहरे पर तेजाब डालने और अश्लील वीडियो वायरल करने की धमकी दी। आरोपितों में एक भाजपा नेता का भाई भी शामिल है। पुलिस ने पूरे मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

थाना गलशहीद थाना क्षेत्र के एक मुहल्ला निवासी पीड़िता ने बताया कि वह पांच साल तक भाकियू की पदाधिकारी रही। पारिवारिक परेशानी के चलते पति कहीं चले गए हैं। वह स्वयं बच्चों की पढ़ाई पूरी करा रही है। आरोप है कि भाकियू के नेता रणधीर उर्फ बबलू निवासी काजीपुरा जवाहर नगर, थाना सिविल लाइंस से उसकी मुलाकात दो साल पहले संगठन के एक कार्यक्रम में हुई थी।

आरोपित मीठी बातें करके घर पर आना-जाना शुरू कर दिया। इसी दौरान एक दिन रणधीर उर्फ बबलू शराब के नशे में धुत होकर घर में घुस आया। इस दौरान उसने दुष्कर्म किया। पीड़िता ने जब पुलिस में शिकायत करने की बात कही तो आरोपित शादी का झांसा देकर लगातार संबंध बनाता रहा। इस दौरान आरोपित ने अपने दोस्त व भाजपा नेता के भाई जयवीर सिंह निवासी दौलारी मूंढापांडे, पूर्व जिला पंचायत सदस्य लल्ला उर्फ बिजेंद्र सिंह, श्याम, माखन, उमेश, नरेश व प्रतीक को बुलाकर उसका सामूहिक दुष्कर्म कराया।

पुलिस से शिकायत करने पर कोई कार्रवाई नहीं हुई। इसके बाद पीड़िता ने डीआइजी शलभ माथुर के सामने पेश होकर शिकायत दर्ज कराई। डीआइजी के निर्देश पर गलशहीद थाना पुलिस ने सभी आरोपितों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म और धमकी देने की प्राथमिकी दर्ज की। सीओ कटघर शैलजा मिश्र ने बताया कि तहरीर के आधार पर प्राथमिकी दर्ज की है। साक्ष्य के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

रणधीर के साथ लिव-इन में रह रही थी पीड़िता

पुलिस के मुताबिक पीड़ित काफी समय से रणधीर के साथ रह रही थी। दोनों को अक्सर शहर में एक साथ देखा जाता था। आरोप यह है कि रणधीर ने ही पीड़िता के पति को धमकाकर भगा दिया था। रणधीर ने ही पीड़िता को महिला किसान मोर्चा में पद दिलाया था। इसके बाद वह खुद उसके साथ लिव-इन रिलेशनशिप में रहने लगा था। पिछले कुछ दिनों से रणधीर ने पीड़िता के पास जाना बंद कर दिया था। इसके बाद से दोनों के संबंध खराब हो गये थे।

Edited By: Vivek Bajpai