रामपुर,जेएनएन। स्वार के जंगल में शेर की अफवाह पर वन विभाग की टीम ने कांङ्क्षबग की लेकिन, जंगल में शेर होने की कोई पुष्टि नहीं हो सकी। दहशत में किसान अपने खेतों पर जाने से कतरा रहे हैं।

स्वार क्षेत्र के गांव भगवंतनगर निवासी किसान तेजपाल, नवी जान, नबाव जान दो दिन पहले पीलाखार नदी किनारे तरबूज की पालेज लगा रहे थे। अचानक किसानों को जंगल में शेर की दहाड़ सुनाई दी, जिससे वे घबरा गए और खेतों में छिप गए। पालेज में शेर को देखकर भाग खड़े हुए। गांव पहुंचकर सूचना अन्य ग्रामीणों को दी। ग्रामीण एकत्र हो गए और सूचना पुलिस व वन विभाग को दी।  तलाश की लेकिन, कोई जानवर दिखाई नहीं दिया। मंगलवार को शेर होने की सूचना पर वन विभाग के कर्मचारी बुद्ध सेन, भोले खां, लाल ङ्क्षसह आदि गांव पहुंचे और जंगल में कांङ्क्षबग की लेकिन, शेर होने की कोई पुष्टि नहीं हो सकी। शेर होने की सूचना पर ग्रामीणों में दहशत है। किसान जंगल जाने से कतरा रहे हैं। बच्चों को भी घरों से नहीं निकलने दे रहे हैं। वन दारोगा बुद्ध सेन ने बताया की जंगल में कांङ्क्षबग की गई लेकिन, शेर होने की पुष्टि नहीं हो सकी है। 

Posted By: Narendra Kumar

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस