अनुज मिश्र, मुरादाबाद : लगातार जहरीली होती आबोहवा हर किसी के लिए चिंता का विषय बनी हुई है। स्थिति यह है कि देश की सर्वोच्च अदालत तक को इस मामले में दखल देना पड़ रहा है। ऐसे में बढ़ते प्रदूषण को लेकर तीन युवाओं की टीम ने एक नई खोज की है। इस खोज के तहत अब हर हाथ में आसानी से फ्लेक्सिबल प्रदूषण मापी यंत्र होगा। इस यंत्र से हम वातावरण में नमी, कार्बन की मात्रा और तापमान का पता कर सकेंगे। इससे लोग हर समय वास्तविक स्थिति से वाकिफ होंगे।

महज एक हजार रुपये में ही खरीदा जा सकता है यह प्रदूषण मापी यंत्र 

दरअसल, यह खोज नई नहीं है। बाजार में ऐसे उपकरण पहले से उपलब्ध हैं। खासियत यह है कि बाजार में मिलने वाले उपकरण की कीमत अधिक है जबकि छात्रों का दावा है कि यह प्रदूषण मापी यंत्र सबसे कम महज एक हजार रुपये में ही खरीदा जा सकता है।एमआइटी के इलेक्ट्रानिक्स एवं कम्युनिकेशन के तीन छात्र अभिषेक कुमार, अभिषेक वशिष्ठ एवं मो. फैज द्वारा बनाए गए कार्बन मीजर‍िंंग सिस्टम में दो सेंसर एमक्यू 135 एवं डीएचटी 11 का इस्तेमाल किया है। एमक्यू 135 हवा में कार्बन की मात्रा को मापेगा, वहीं डीएचटी 11 तापमान और आद्र्रता को मापेगी। इसके साथ इसमें एक छोटी एलसीडी व आर्डिनो का प्रयोग भी किया गया है। छात्रों ने सहायक प्रोफेसर आलोक पांडेय के निर्देशन में यह प्रोजेक्ट तैयार किया है। इस यंत्र को घर या आफिस कहीं भी आसानी से स्थापित कर सकते हैं।

बढ़ते प्रदूषण से आया दिमाग में विचार

प्रदूषण मापी किफायती यंत्र बनाने का विचार छात्रों के मन में बढ़ते प्रदूषण से आया। छात्र अभिषेक कुमार ने बताया कि प्रदूषण से आज हर कोई परेशान है। ऐसे में हर किसी को अपने आसपास व घर की आबोहवा की वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी हो, लिहाजा इस पर कार्य किया गया जिसमें सफलता मिली है।

Posted By: Narendra Kumar

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप